पुलिस के घोड़े ‘शक्तिमान’ की टांग तोड़ने के आरोपी बीजेपी विधायक गणेश जोशी की जमानत याचिका खारिज हो गई है। गणेश जोशी की जनहित याचिका पर जुडीशियल मजिस्ट्रेट (जेएम) अकरम अली की कोर्ट में सुनवाई हुई। कोर्ट में जज ने बीजेपी विधायक की जमानत याचिका को खारिज करके पार्टी और विधायक गणेश जोशी के सर्मथकों को करारा झटका दिया।

गौरतलब है कि 14 मार्च को विधानसभा के समक्ष बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान पुलिस के घोड़े ‘शक्तिमान’ की टांग टूटने के मामले में पुलिस ने मसूरी विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक गणेश जोशी को गिरफ्तार किया था।

गिरफ्तारी के बाद विकासनगर की अदालत में पेश किया गया था, जहां कोर्ट ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में 31 मार्च तक जेल भेज दिया था। इससे पहले, हाईकोर्ट नैनीताल ने विधायक जोशी की विधानसभा सत्र में भाग लेने संबंधी जनहित याचिका को खारिज कर दिया था।

बीजेपी विधायक की गिरफ्तारी के खिलाफ राज्यभर में बीजेपी कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं। विकासनगर में भी कोर्ट के समक्ष बीजेपी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। इससे पहले बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल केके पाल व डीजीपी बीएस सिद्धू से भेंटकर गिरफ्तारी को गलत बताया था।