उत्तराखंड में विपक्षी पार्टी बीजेपी के हिंसक प्रदर्शन के दौरान अस्थायी राजधानी देहरादून में घायल घोड़े ‘शक्तिमान’ की जान बचाने के लिए उसका पैरा काटना पड़ा है। ऑपरेशन करके डॉक्टरों ने शक्तिमान को कृत्रिम पैर लगा दिया है। बताया जा रहा है कि अमेरिका, मुम्बई और पुणे से आई डॉक्टरों की टीम ने यह ऑपरेशन किया है।

डॉक्टरों ने चेकअप के दौरान कहा था कि गैंग्रीन बीमारी के कारण ‘शक्तिमान’ के पैर में जहर फैल गया है। इसलिए उसका पैर काटना पड़ेगा। 14 मार्च को देहरादून में बीजेपी का प्रदर्शन चल रहा था, उसी दौरान ‘शक्तिमान’ नाम का घोड़ा घायल हो गया था।

आरोप है कि बीजेपी विधायक गणेश जोशी के डंडे से घोड़े को चोट लगी और वो गिरकर जख्मी हो गया। ‘शक्तिमान’ के इलाज के लिए विदेश से भी डॉक्टरों की कई टीमों को बुलाया गया था।

इस मामले में गुरुवार को पुलिस ने हलद्वानी से बेजुबान घोड़े ‘शक्तिमान’ पर हमला करने के आरोप में एक बीजेपी कार्यकर्ता प्रमोद बोरा को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि शक्तिमान की टांग टूटने के मामले में पुलिस वीडियो के आधार पर लोगों को चिन्हित कर रही है और ये गिरफ्तारी भी वीडियो क्लिपिंग के आधार पर ही हुई है।

पुलिस का कहना है कि टांग कैसे टूटी इसकी भी जांच हो रही है और जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी। पड़ताल में भले ही लोहे के एंगल से टांग टूटने की बात सामने आ रही है, लेकिन सरकार ने साफ किया है कि केस वापस नहीं होगा।