हरीश रावत सरकार का गिरना तय, कांग्रेस के 10 और बसपा का 1 विधायक बीजेपी में शामिल

उत्तराखंड विधानसभा में शुक्रवार को बजट सत्र के दौरान मंत्री हरक सिंह रावत समेत कांग्रेस के नौ विधायकों ने बगावती तेवर अख्तियार कर लिया जिसके चलते सरकार का बजट प्रस्ताव गिर गया। प्रस्ताव के समर्थन में 32 मत मिले जबकि विधानसभा में बहुमत के लिए 36 विधायकों का समर्थन होना जरूरी है।

प्रस्ताव गिरने के बाद भाजपा के 27 विधायकों के साथ कांग्रेस के नौ असंतुष्ट राज्यपाल से मिलने जा रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री और सांसद भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि रावत राज का अंत हो गया। सरकार सदन में विश्वास खो चुकी है। भाजपा विधायकों के साथ राज्यपाल से मिलकर हरीश रावत सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेगी।

 

उत्तराखंड विधानसभा में हुए हंगामे के बाद उत्तराखंड सरकार संकट में आ गई है। सरकार द्वारा लाया गया बजट प्रस्ताव सदन में गिर जाने से सरकार पर अल्पमत का खतरा आ गया है। ताजा घटनाक्रम में कृषि मंत्री हरक सिंह रावत ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने का दावा किया है। कांग्रेस के 9 विधायक ने सरकार का विरोध करते हुए भाजपा के साथ आ गए। वहीं बजट सत्र के दौरान विधानसभा में दो मंत्रियों के बीच मारपीट हो गई।

भारतीय जनता पार्टी घटनाक्रम पर दिल्ली से भी पल-पल नजर रखी जा रही है। केंद्रीय मंत्री महेश चंद्र शर्मा स्पेशल चार्टर्ड प्लेन से देहरादून पहुंच गए हैं।