विधानसभा के समक्ष बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान पुलिस के घोड़े शक्तिमान की टांग टूटने के मामले में पुलिस ने शुक्रवार सुबह जैसे ही बीजेपी विधायक गणेश जोशी को गिरफ्तार किया, यह खबर आग की तरह पूरे राज्य में फैल गई। विधायक की गिरफ्तारी के विरोध में अस्थायी राजधानी देहरादून सहित पूरे राज्य में भाजपाइयों ने प्रदर्शन किया। साथ ही कांग्रेस सरकार का पुतला भी फूंका।

बात दें की शुक्रवार सुबह पुलिस ने 14 मार्च को विधानसभा के समक्ष बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान पुलिस के घोड़े शक्तिमान की टांग टूटने के मामले में मसूरी विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक गणेश जोशी को गिरफ्तार कर लिया। इसकी सूचना जैसे ही भाजपाइयों को लगी वे विरोध प्रदर्शन में उतर आए।

गढ़वाल और कुमाऊं में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए। अस्थायी राजधानी देहरादून बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकाला। इस दौरान उन्होंने दर्शनलाल चौक पर बैठकर सांकेतिक जाम लगाया। इसके बाद वे जुलूस के रूप में एसएसपी कार्यालय के लिए निकले पड़े।

वहीं, ऋषिकेश में बीजेपी कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के विरोध में भाजयुमो ने राज्य सरकार का पुतला फूंका। दून तिराहे पर आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने सरकार पर तानाशाही का आरोप लगाया। उनका कहना था कि सरकार जनता का ध्यान भटकाने के लिए जबरन इस मामले को तूल दे रही है। इस दौरान राकेश पारछा, संदीप गुप्ता, अनिल बडोला, हरीश तिवारी, किशन नेगी, प्रदीप गुप्ता आदि शामिल थे।

उत्तरकाशी, हरिद्वार, विकासनगर क्षेत्र में भी भाजपाइयों ने प्रदर्शन कर कांग्रेस सरकार का पुतला फूंका। वहीं, नैनीताल में भी बीजेपी विधायक गणेश जोशी और भाजयुमो कुमाऊं संयोजक प्रमोद बोरा की गिरफ्तारी का विरोध तेज हो गया है। शुक्रवार को बीजेपी, विद्यार्थी परिषद्, भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने मल्लीताल रिक्शा स्टैंड पर जोरदार प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया।

इस दौरान सभा में वक्ताओं ने कहा कि सरकार दमन पर उतारू हो गई है। कार्यकर्ताओं के उत्पीड़न का डटकर मुकाबला किया जाएगा। इस दौरान नगर अध्यक्ष मनोज जोशी, जिला उपाध्यक्ष अरविन्द पडियार, नितिन कार्की, हिमांशु मलकानी, पंकज भट्ट, अंकित भट्ट, विवेक साह व अन्य थे।