सांकेतिक तस्वीर

बद्रीनाथ नेशनल हाईवे पर चट्टान खिसकने से पातालगंगा के पास कई गाड़ियां फंस गई हैं। चट्टान खिसकने का कारण भारी बारिश और ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात शुरू होना बताया जा रहा है।

बद्रीनाथ नेशनल हाइवे होने के कारण वाहनों की आवाजाही रुक गई है। लोग वाहनों के साथ बीच रास्ते में ही फंसे हुए हैं। गौरतलब है कि जिले में लगातार रुक-रुककर हो रही बारिश के चलते मौसम में ठंडक आ गई है। वहीं ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी भी शुरू हो गई है।

उत्तराखंड में मौसम विभाग ने 48 घंटों का पूर्वानुमान जारी करते हुए राज्य के ज्यादातर इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश के आसार जताए थे। मौसम विभाग का पूर्वानुमान सही साबित हुआ और मौसम ने करवट ली। राज्य के ज्यादातर इलाकों में जमकर बारिश हुई। अस्थायी राजधानी देहरादून में भी बारिश के बाद मौसम सुहावना रहा।

3500 मीटर ऊंचाई वाली चोटियों मे बर्फबारी की संभावना भी जताई गई थी, जिसका असर देखने को मिला। खास बात यह है कि पोस्ट मानसून यानी की नवंबर और दिसंबर में बारिश बेहद कम हुई थी। उम्मीद सर्दियों के जनवरी और फरवरी महिने से भी थी, लेकिन सर्दियों में भी करीब 65 फीसदी बारिश कम रही।