रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तराखंड की कोटद्वार शाखा ने सहायक महाप्रबंधक की ओर से एक कंडक्टर का निलंबित किए जाने की निंदा की है। उन्होंने मोर्चा खोलते हुए पांच मांगों पर सकारात्मक कार्रवाई नहीं होने पर 16 मार्च से कोटद्वार डिपो में गेट बंद, चक्काजाम और धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है।

शुक्रवार को उत्तराखंड परिवहन निगम के सहायक महाप्रबंधक को भेजे पत्र में परिषद के अध्यक्ष जितेंद्र रावत और शाखा मंत्री उत्तम सिंह ने अधिकारी पर एक पक्षीय कार्रवाई का आरोप लगाया। कहा कि केंद्र प्रभारी की रिपोर्ट पर परिचालक सुरजीत बिष्ट से बिना वार्ता किए एकपक्षीय फैसले में निलंबित करना न्याय संगत नहीं है।

इसके कारण समस्त कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। उन्होंने कंडक्टर बिष्ट के निलंबन के आदेश को जल्द से जल्द वापस लेने, केंद्र प्रभारी वरिष्ठ लिपिक का स्थानांतरण अन्य डिपो में किए जाने, इनके स्थान पर राजेंद्र प्रसाद नौटियाल या रामजी प्रसाद को लगाए जाने, वरिष्ठता के आधार पर कार्य लिए जाने, समय पाल कक्ष में जिम्मेदार लिपिक को बैठाए जाने की मांग की।

चेताया गया है कि उक्त मांगों का शीघ्र समाधान नहीं होने पर 16 से 18 मार्च तक धरना, 19 को गेट बंद कर धरना और 20 मार्च से अनिश्चितकालीन चक्का जाम करने की चेतावनी दी है।