वित्त मंत्री इंदिरा हृदयेश ने शुक्रवार को उत्तराखंड विधानसभा में राज्य सरकार का साल 2016-17 का बजट पेश किया। आंकड़ों के दृष्टि से बजट को देखा जाए, तो इस बार का बजट टैक्स रहित है और 25 करोड़ के राजस्व का सरप्लस बजट पेश किया गया है।

हालांकि समेकित निधि में 510 करोड़ का घाटा अनुमानित किया गया है, लेकिन इसकी पूर्ति के लिए 500 करोड़ रुपये पब्लिक अकाउंट से उम्मीद जताई गई है।

अगले साल विधानसभा चुनाव से पहले राज्य की हरीश रावत सरकार का यह अंतिम बजट है। बजट में सरकार ने आंकड़ों के हिसाब से संतुलन साधने की कोशिश की है। ताकि राज्य की विकास दर भी प्रभावित न हो और सीमित आर्थिक संसाधनों में सारे खर्चे भी पूरे हो जाएं। वित्त मंत्री इंदिरा हृदयेश ने आगामी वित्त वर्ष 2016-17 के लिए 40422 करोड़ का बजट पेश किया है।

25 करोड़ रुपये का राजस्व सरप्लस बजट पेश किया है, हालांकि समेकित निधि में 510 करोड़ का घाटा अनुमानित किया गया है, लेकिन इसकी पूर्ति के लिए 500 करोड़ रुपये पब्लिक अकाउंट से उम्मीद जताई गई है। चलिए एक नजर डालते हैं बजट की मुख्य बातों पर…

1. कुल व्यय 40422.20 करोड़ रुपये
– राजस्व व्यय 32250.39 करोड़ रुपये
– पूंजी व्यय 8171.81 करोड़ रुपये

2. कुल प्राप्तियां 39912.00 करोड़ रुपये

  •  राजस्व प्राप्तियां 32275.87 करोड़ रुपये
    – कर राजस्व 18131.13 करोड़
    – राज्य स्रोत से 14910.10 करोड़
    – करेत्तर राजस्व 2793. 43 करोड़
  •  पूंजी प्राप्तियां 7636.13 करोड़ रुपये

3. आयोजनागत भिन्न व्यय 24490.60 करोड़
– राजस्व खाते पर 22250.37 करोड़
– ब्याज अदायगी 3896.06 करोड़
– पूंजी खाते पर 2240.23 करोड़
– ऋणों की अदायगी 2032.23 करोड़

4. आयोजना व्यय 15931.60 करोड़
– राजस्व खाते पर 10000.02 करोड़
– पूंजी खाते पर 5931.58 करोड़

5. राजस्व अधिशेष 25.48 करोड़
6. राजकोषीय घाटा 6072.97 करोड़

पिछले साल के मुकाबले इस साल भी हरीश रावत सरकार ने टैक्स रहित और राजस्व घाटा सहित बजट देकर बेहतर वित्तीय प्रबन्धन दिखाने की कोशिश की है, क्योंकि पिछले साल के बजट में 38.35 करोड़ राजस्व सरप्लस दिया गया था, तो वहीं इस बार 25.48 करोड़ राजस्व सरप्लस बताया गया है।

इतना ही नहीं राजकोषीय घाटा पिछले बजट में 4001 करोड़ था, जोकि पिछली बार भी राजकोषीय उत्तरदायित्व एवं बजट प्रबन्धन अधिनियम के निर्धारित लक्ष्य की सीमा के अंतर्गत ही था और इस बार का अनुमानित घाटा 6072.97 भी निर्धारित सीमा के अंतर्गत ही रहने का अनुमान लगाया जा रहा है।