उत्तराखंड में विपक्षी पार्टी बीजेपी ने शुक्रवार को पेश हुए सरकार के बजट पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने इसे सत्य से परे करार दिया है।

भट्ट ने कहा कि इसमें सरकार ने जो घोषणाएं की हैं वो अगले पांच सालों में पूरी होने वाली नहीं है। वहीं, बीजेपी विधायक मदन कौशिक ने इसे निराशाजनक करार देते हुए इसे आंकड़ों का खेल मात्र करार दिया है।

बजट को लेकर पहले ही विपक्षी दल सरकार को घेरकर इसे लोकलुभावना बजट होने के कयास लगा रहा था, तो वहीं बजट आने के बाद विपक्ष ने इसपर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। बीजेपी ने इसे चुनावी बजट मात्र करार दिया है।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष अजय भट्ट ने कहा कि सरकार का यह बजट सत्य से परे है। भट्ट ने कहा कि इसमें न तो पलायन रोकने को लेकर सरकार ने कोई योजना तैयार की है और न ही बेरोजगारों के लिए इसमें रोजगार मुहैया करवाने की दिशा में कुछ किया गया है। इसके अलावा बीजेपी ने आरोप लगाया है कि बजट में गैरसैंण के मुद्दे पर सरकार ने फिर से धोखा दिया है।

उन्होंने कहा कि सरकार गैरसैंण को लेकर दावा करती रही, लेकिन न तो अभिभाषण में और न ही बजट में गैरसैंण के लिए कोई प्रावधान या उल्लेख किया गया, जो कि दर्शाता है कि गैरसैंण को लेकर सरकार की मंशा क्या है।

अजय भट्ट ने कहा कि बजट में लोकलुभावन फैसले इसलिए भी किए गए हैं कि सरकार की स्थिति ठीक नहीं और सरकार के मंत्रियों का ही सरकार पर कोई विश्वास नहीं है। भट्ट ने कहा कि ये सरकार कभी भी गिर सकती है।

वहीं बीजेपी नेता मदन कौशिक ने इसे आंकड़ों की बाजीगरी करार दिया है। कौशिक ने कहा कि पहाड़ से लेकर किसान और आम गरीब किसी की भी बात सरकार के इस बजट में नहीं है। जबकि सरकार पहले ही आम गरीब पर बढ़े टैक्स की मार, मार चुकी है।

बीजेपी विधायक विजया बड़थ्वाल ने कहा कि महिलाओं के लिए बजट में कोई प्रावधान नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि इस बजट में दावे किए गए लेकिन हकीकत उससे परे हैं।