पूर्व मुख्यमंत्री निशंक के पीए का बेटा यूपी में कानपुर से लापता, लावारिश हालत में मिला बैग

पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के निजी सचिव का बेटा उत्तर प्रदेश में कानपुर से लापता हो गया है। रावतपुर स्टेशन के सामने उसका बैग लावारिश हालत में पड़ा मिला।

बैग में मिले मोबाइल से परिजनों से संपर्क किया गया तो उनको भी मामले की जानकारी हुई। बीजेपी नेताओं ने स्वरूप नगर थाने में पहुंचकर शिकायत दी है। गुमशुदगी दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

रावतपुर रेलवे स्टेशन के सामने सोमवार दोपहर 2:30 बजे बरगद के पेड़ के नीचे महिला होमगार्ड को एक बैग पड़ा मिला। होमगार्ड ने लावारिस बैग को स्वरूप नगर थाने में जमा करा दिया। इसके साथ ही बताया कि बैग मिलने से कुछ देर पहले ही एक युवक को देखा था। जो बहुत बेचैन और परेशान सा लग रहा था।

ankit-nishanks-pa-son

इंस्पेक्टर कमल यादव ने बैग से मिले मोबाइल से संपर्क किया। तब पता चला कि देहरादून के सरस्वती विहार, अजबपुर खुर्द में रहने वाले बेचैन कंडियाल पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के नीजि सचिव के बेटे अंकित (27) का बैग है।

बचैन ने बताया कि उनका बेटा अंकित लखनऊ गोमती नगर की एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। रविवार को आनंद विहार बस स्टेशन से लखनऊ जाने के लिए निकला था। लखनऊ की बस नहीं मिलने पर कानपुर की बस में बैठ गया। इसके बाद से बेटे का कुछ पता नहीं चल रहा है।

पिता बेचैन ने बताया कि अंकित का दूसरा नंबर भी स्विच ऑफ जा रहा है। लखनऊ स्थित अपने कमरे पर भी नहीं पहुंचा। बेचैन ने मामले की जानकारी बीजेपी के जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी को दी।

जिलाध्यक्ष अपने समर्थकों के साथ स्वरूप नगर थाने पहुंचे और पुलिस से अंकित की तलाश करने को कहा। इंस्पेक्टर कमल यादव ने बताया कि अंकित की गुमशुदगी दर्ज कर तलाश के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है।