चंडीगढ़।… दिल्ली के नरेला की एक महिला द्वारा की गई सामूहिक दुष्कर्म की शिकायत पर हरियाणा पुलिस ने रविवार को एक मामला दर्ज किया। पुलिस के एक अधिकारी ने कहा है कि अभी यह कहना मुश्किल है कि यह मामला जाट हिंसा के दौरान हुए कथित मुरथल सामूहिक दुष्कर्म का हिस्सा है या नहीं।

हरियाणा में आरक्षण के लिए जाटों के आंदोलन के दौरान 22 फरवरी को सोनीपत जिले के मुरथल में कथित रूप से कम से कम 10 महिला मुसाफिरों के साथ सामूहिक दुष्कर्म की बात सामने आई है। इस मामले की जांच के लिए तीन महिला अफसरों पर आधारित विशेष जांच दल बनाया गया है। एक खास हेल्पलाइन भी शुरू की गई है, ताकि पीड़ित महिला अपनी बात अफसरों को बता सकें।

दिल्ली की महिला ने इसी हेल्पलाइन पर फोन कर अपने साथ हुए अपराध की जानकारी दी है। विशेष जांच दल की प्रमुख उप पुलिस महानिरीक्षक राजश्री सिह ने संवाददाताओं से कहा, ‘मैं नहीं कह सकती कि इस मामले का संबंध कथित मुरथल सामूहिक दुष्कर्म से है। हम जांच कर रहे हैं। मैं इस महिला का बयान लेने दिल्ली जा रही हूं।’

murthal-rape

उन्होंने बताया कि महिला की शिकायत पर सात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि वारदात 22-23 की रात की है। इसमें महिला का एक रिश्तेदार भी शामिल है।

राजश्री ने बताया, ‘महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि वह बस से हरिद्वार से आ रही थी। मुरथल के पास उसकी बस खराब हो गई। वह एक एक वैन में सवार हुई, जिसमें अन्य सवारियां भी थीं। इनमें महिलाएं भी थीं। कुछ लोगों ने वैन को रोका, उसे खींचकर बाहर निकाला और पास के खेत में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया।’

पुलिस सूत्रों ने कहा कि इस मामले में निजी विवाद होने से भी इनकार नहीं किया जा सकता।