कांग्रेस नेता पर एक लाख रुपये की रंगदारी मांगने का आरोप

एक व्यक्ति ने कांग्रेस नेता से एक लाख रुपये की रंगदारी मांगी है। उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी गई है। विरोध में रंगदारी मांगने वाले के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज नहीं करने और वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं की उपेक्षा करने के आरोप में कार्यकर्ताओं ने कोतवाली में जमकर हंगामा किया। कोतवाल के खिलाफ नारे लगाए और धरने पर बैठ गए।

शनिवार सुबह वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शफीक अंसारी से एक लाख की रंगदारी मांगने की खबर फैलते ही कार्यकर्ता भड़क गए। आरोपी को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में प्रमुख पदाधिकारी और कार्यकर्ता कोतवाली पहुंचे। कार्यकर्ताओं ने कोतवाल आरएल आर्य को बताया कि एक व्यक्ति ने महेशपुरा निवासी वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शफीक अंसारी के प्रतिष्ठान पर जाकर उनकी अनुपस्थिति में कर्मचारियों को गालियां दी और तमंचा लहराते हुए एक लाख रुपयों की मांग करते हुए जान से मारने की धमकी दी।

पीड़ित शफीक अंसारी ने कोतवाल को शिकायत दी। कोतवाल के यह कहने पर कि मोहल्ले में जाकर घटना की जानकारी ली जाएगी, तब कार्रवाई होगी। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने कहा कि रंगदारी मांगने वाला पुराना अपराधी है। पुलिस आरोपी को गिरफ्तार करने के बजाय उसे बचा रही है। इसी बात को लेकर कार्यकर्ताओं की पुलिस से नोकझोंक हो गई। इसी दौरान एक कार्यकर्ता ने कई वरिष्ठ कार्यकर्ता की ओर इशारा कर कहा कि यहां कांग्रेस के प्रदेश सचिव भी आए हैं। इस पर कोतवाल ने कहा सचिव क्या होता है।

जो भी पीड़ित आता है उसकी सुनी जाती और कार्रवाई होती है। इस पर कार्यकर्ता कांग्रेस नेताओं की उपेक्षा का आरोप लगाकर कोतवाल से माफी मांगने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए और कोतवाल के खिलाफ नारे लगाने लगे। तब कोतवाल ने कार्यकर्ताओं से कहा कि उन्होंने रिपोर्ट दर्ज करने से इंकार नहीं किया है ना ही किसी की उपेक्षा की है। उन्होंने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया।