संसद में गुरुवार को पेश रेल बजट को उत्तराखंड के लिए निराशाजनक बताते हुए मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि राज्य की रेल संबंधी जरूरतों का इसमें कहीं कोई जिक्र तक नहीं किया गया है।

अस्थायी राजधानी देहरादून में जारी एक बयान में मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि उत्तराखंड की रेल संबंधी आवश्यकताओं से रेल मंत्री को अनेक बार अवगत कराया गया, लेकिन इसके बावजूद उन पर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

उन्होंने कहा, ‘राज्य की महत्वपूर्ण सामरिक स्थिति के मद्देनजर यहां की रेल परियोजनाएं बहुत महत्वपूर्ण थीं, लेकिन उनकी पूरी तरह अनदेखी कर दी गई।’ उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के पहले दो महत्वपूर्ण वर्षों में रेल के मामले में हमें निराशा ही हाथ लगी है।

हालांकि मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में रेल परियोजनाएं स्वीकृत कराने के लिए वह निरंतर प्रयासरत रहेंगे और एक बार फिर रेल मंत्री से मिलकर उत्तराखंड की ओर उनका ध्यान आकृष्ट करेंगे।