देश और दुनिया में मौजूदा इंटरनेट की स्पीड से 100 गुना ज्यादा तेज इंटरनेट जल्द ही आपके पास होगा। इतना तेज कि महज पांच सेकेंड से भी कम समय में एक पूरी फिल्म डाउनलोड हो जाएगी। जी हां 5जी स्पीड इंटरनेट की स्पीड कुछ ऐसी ही होगी।

भले ही इंटरनेट की 4जी स्पीड अभी दुनिया के सभी हिस्सों में न पहुंची हो, लेकिन इंटरनेट को और तेज बनाने के लिए 5जी तकनीक पर काम शुरू हो गया है।

दुनिया की प्रतिष्ठित टेक्नोलॉजी कंपनियों ने इसका परीक्षण भी शुरू कर दिया है। सबसे अच्छी बात तो ये है कि उम्मीद जताई जा रही है कि 2018 तक इंटरनेट को 5जी स्पीड मिल जाएगी।

ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ सरे के कैंपस में सैमसंग और फुजित्सु जैसी टेक कंपनियां 5जी तकनीक तैयार करने में जुटी हुई हैं। यहां 5जी को तैयार करने में जुटे शोधकर्ताओं का कहना है कि 2018 तक यह तकनीक सार्वजनिक उपयोग के लिए तैयार हो जाएगी।

mobile-5gmobile-5g

इस तकनीक के जरिए घर के इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और स्वचालित कारों को भी जोड़ा जा सकेगा। 5जी तकनीक को तैयार करने में चीन, अमेरिका और स्वीडन जैसे देशों की प्रतिष्ठित कंपनियां भी अरबों रुपये लगा रही हैं।

एटीएंडटी, जापान की डोकोमो और एरिकसन जैसी कंपनियां जल्द से जल्द 5जी तकनीक तैयार कर लेना चाहती हैं और इसे सबसे पहले तैयार करने का श्रेय हासिल करना चाहती हैं। भले ही कंपनियां 2018 तक 5जी तकनीक तैयार कर लें, लेकिन इसके लिए वैश्विक मानक तैयार करने में समय लग सकता है।

विशेषज्ञों के मुताबिक 2019 से पहले वैश्विक मानक तैयार होना संभव नहीं लग रहा, ऐसे में इसका सार्वजनिक इस्तेमाल इसके बाद ही हो सकेगा। वैश्विक मानकों के जरिए दुनियाभर की कंपनियां तकनीक के इस्तेमाल के लिए करार करती हैं।