अस्थायी राजधानी देहरादून के त्यागी रोड पर कोठी खरीदने के बहाने घर में घुसे बदमाशों ने एक बुजुर्ग दंपति को घायल कर बंधक बना लिया। बदमाश लूट की वारदात में कामयाब हो जाते, लेकिन ऐन वक्त पर पड़ोसी महिला ने आकर उनका खेल बिगाड़ दिया। शोर मचा तो बदमाश वहां से फरार हो गए। दो बदमाश पैदल और तीसरा कार से भागा। पुलिस लूटपाट की कोशिश की बात से भी इनकार कर रही है।

शहर के त्यागी रोड पर रेस्ट कैंप निवासी बुजुर्ग अनिल गोयल और उनकी पत्नी मधु गोयल सोमवार दोपहर करीब ढाई बजे के घर में थे। इसी बीच तीन युवकों ने खुद को दिल्ली निवासी बताते हुए कोठी खरीदने की बात कहकर घर में घुस आए।

कोठी देखने के बाद युवकों ने चाय भी पी। इसी बीच टॉयलेट जाने के बहाने अंदर गए बदमाशों ने अनिल गोयल को डराकर स्टोर में बंधक बना लिया। दो बदमाशों ने बाहर आकर मधु गोयल के चेहरे पर थप्पड़ बरसा दिए, जिससे वह गिर गईं। बदमाश लूटपाट कर पाते इससे पहले पड़ोसी किरण शर्मा वहां आ पहुंची।

महिला ने सवाल किया तो बदमाश घबरा गए और बाहर की तरफ भाग गए। इसी बीच मधु जोर से चिल्लाई कि उन्हें (पति) बचाओ, बदमाश उन्हें मार देंगे। शोर-शराबा हुआ तो बदमाश भाग गए। जानकारी मिलते ही मौके पर सीओ सिटी मनोज कत्याल पुलिस बल के साथ पहुंच गए। बेटियों की शादी होने के बाद बुजुर्ग दंपति अकेले रहते हैं। वह मकान बेचकर बेटियों के पास जाना चाहते हैं।

बदमाशों की पिटाई से बुजुर्ग दंपति दहशत में हैं। अनिल गोयल का कहना था कि आरोपियों के पास हथियार थे। वह लगातार जान से मारने की धमकी दे रहे थे। उन्होंने बताया कि युवकों को पहली बार देखा था। पड़ोसी महिला नहीं आती तो जान जा सकती थी।

एसपी सिटी अजय सिंह का कहना है कि आरोपी आवास में करीब 50 मिनट के लगभग रहे। ऐसे में लूटपाट करने का इरादा जाहिर नहीं होता। यदि उनका मकसद लूटपाट होता तो वह कम से कम इतना समय न लगाते। फिर भी शिकायत के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।