इंटरनेट और वाईफाई आज हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा हो चुके हैं। कुछ देर के लिए भी इनसे दूर रहना पीड़ादायक लगने लगता है। ऐसे में इंटरनेट या वाईफाई के सिग्नल्स ने आएं तो हम परेशान हो जाते हैं। लेकिन इस समस्या का हल जर्मनी में खोज निकाला गया है।

क्या आपने कभी किसी ऐसे पत्थर के बारे में सुना है जिसके पास आग जलाओं तो इंटरनेट और वाईफाई के सिग्नल पकड़ने लगे हों। अब आप सोच रहे होंगे कि कास हमारे पास भी कोई ऐसा ही जादुई पत्थर होता।

ऐसा एक पत्थर जर्मनी के आउटडोर स्कल्पचर्स का म्यूजियम न्यूएनकिर्चेन में है, जिसके पास आग जलाने से इंटरनेट के वाई-फाई सिग्नल मिलने शुरू हो जाते हैं।

दरअसल, पत्थर के भीतर एक थर्मो इलेक्ट्रिक जेनरेटर लगाया गया है तो गर्मी को बिजली में बदल देता है। बिजली मिलते ही वाई-फाई राउटर ऑन हो जाता है और इंटरनेट सिग्नल मिलने शुरू हो जाते है।

पत्थर का वजन करीब 1.5 टन है और इस आर्टवर्क को कीप एलाइव नाम दिया गया है। इसे एरम बर्थोल नाम के शख्स ने बनाया है। वाईफाई जेनरेटर की फोटो सोशल साइट पर काफी शेयर की जा रही है और कई लोग इसे अनोखा बता रहे हैं।

यहां आने वाले पर्यटकों को खुद ही आग जलाकर वाई-फाई सिग्नल जेनरेट करने को कहा जाता है।