जेएनयू मुद्दे पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का समर्थन कांग्रेस को ही भारी पड़ रहा है। बीजेपी नेताओं की मानें तो कुछ ऐसा ही है। उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून में कांग्रेस से जुड़े विभिन्न पंचायत प्रतिनिधि, युवा नेता और छात्र 150 से अधिक समर्थकों के साथ मंगलवार को बीजेपी में शामिल हुए।

बीजेपी नेताओं का कहना है क‌ि जेएनयू मामले में राहुल गांधी के देशद्रोहियों का समर्थन करने के विरोध में कांग्रेसियों ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है। वहीं, कुछ अन्य सदस्य भी बीजेपी में शामिल हुए हैं। मंगलवार को महानगर कार्यालय में आयोजित समारोह में मसूरी विधायक गणेश जोशी और महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल ने पार्टी में शामिल होने और घर वापसी करने वाले कार्यकर्ताओं का स्वागत किया।

मसूरी विधायक गणेश जोशी ने कहा कि राष्ट्र विरोधी ताकतें देश में अराजकता का माहौल पैदा करने की साजिश रच रही हैं। आरोप लगाया कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ऐसे लोगों का समर्थन करके पार्टी की रीति नीति का सच सामने ला दिया है।

महानगर अध्यक्ष उमेश अग्रवाल ने कहा कि कांग्रेस उत्तराखंड सहित देशभर में गर्त में जा रही है। बौखलाहट में कांग्रेस राष्ट्र विरोधी नारे लगाने वालों का समर्थन भी करने लगी है। जिससे हर वर्ग में गुस्सा है।

संचालन महानगर महामंत्री राजेंद्र सिंह ढिल्लो और आदित्य चौहान ने किया। समारोह में प्रदेश सचिव सुनील उनियाल गामा, जिला पंचायत सदस्य संध्या थापा, भगवत प्रसाद मकवाना, आरएस परिहार, संदीप मुखर्जी आदि मौजूद रहे।

युवा छात्र नेता जितेन्द्र कुमार (रिंकू), हरियावाला खुर्द के ग्राम प्रधान नैन सिंह पंवार (काकू), घंघोड़ा की ग्राम प्रधान गीता देवी, गजियावाला के क्षेत्र पंचायत सदस्य राहुल थापा, उप प्रधान गणेश शर्मा, पंचायत सदस्य बाला देवी, सरिता देवी, मोंटू रॉय, ग्राम प्रधान क्यारा देवेन्द्र पुजारा, सिल्ला के बह्नमदत्त जोशी, फुलेट प्रधान हरदयाल सिंह, रमेश प्रधान आदि।