कृमि दिवस के मौके पर ऊधमसिंह नगर में पेट के कीड़े मारने की दवा खाने से बीमार हुए बच्चों में से सोमवार को एक बच्ची सलोनी की सुशीला तिवारी अस्पताल में इलाज के दौरान ही मौत हो गई। अब भी 19 बच्चों का इलाज चल रहा है।

एलबंडाजोल दवा खाने के बाद बीमार हुए इन सभी बच्चों को इलाज के लिए हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती किया गया था। एसटीएच के एमएस ए.के. पांडेय के मुताबिक अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आठ साल की बच्ची की मौत दवा खाने की वजह से ही हुई है या फिर अन्य किसी कारण से।

फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। इसके आलावा उन्होंने बताया है कि बाकी के 19 बच्चों की हालत स्थिर है, जबकि मृत सलोनी के पिता रामपाल के मुताबिक बच्ची ने बताया है कि उसने पेट के कीड़े मारने वाली दवा खाई है, लेकिन कितनी गोली खाई यह नहीं बताया था।