जंगलों में युद्ध और आतंकवाद निरोधक कार्रवाई पर ध्यान केंद्रित करते हुए भारत और नेपाल की सेनाओं का 14 दिवसीय संयुक्त अभ्यास ‘सूर्य किरण’ सोमवार को सीमावर्ती जिले पिथौरागढ़ में शुरू हो गया।

अभ्यास शुरू होने से पहले दोनों देशों की भाग ले रहीं टुकड़ियों ने सामूहिक रस्मी परेड में भाग लिया। नेपाली सेना का प्रतिनिधित्व श्री रद्र धोज बटालियन के अधिकारी और सैनिक कर रहे हैं, वहीं भारतीय सेना की ओर से एक इन्फेंट्री बटालियन भाग ले रही है।

यह दोनों देशों के बीच नौवां ऐसा अभ्यास है, जिस दौरान एक-दूसरे के अनुभवों को साझा करते हुए रणनीतिक और प्रायोगिक कौशल के उन्नयन पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

INDO-NEPAL-COMBINED-MILITARY-TRAINING1

पिछले कुछ सालों में दोनों देशों में आपदा प्रबंधन में सशस्त्र बलों की भूमिका और महत्व खासे महत्वपूर्ण तरीके से बढ़े हैं। मानवीय और आपदा राहत अभियानों पर भी ध्यान दिया जाएगा, जिसमें चिकित्सकीय और उड्डयन पहलू शामिल हैं।