गुवाहाटी।… भारत ने दक्षिण एशियाई खेलों (SAG) के पहले दिन शानदार प्रदर्शन करते हुए कुश्ती, तैराकी और भारोत्तोलन में अपना क्षेत्रीय दबदबा दिखाते हुए गोल्ड मेडलों का लगभग क्लीन स्वीप किया।

भारत पहले दिन 14 गोल्ड और पांच सिल्वर सहित कुल 19 पदक जीतकर शीर्ष पर चल रहा है। श्रीलंका ने कुल 21 पदक जीते हैं, लेकिन वह सिर्फ चार गोल्ड मेडल जीतकर दूसरे स्थान पर है।

भारत के लिए दिन के स्टार पहलवान रहे जिन्होंने पांच गोल्ड मेडल जीते जबकि तैराकों ने चार गोल्ड और तीन सिल्वर पर कब्जा जमाया। सुबह साइकिलिंग में दो गोल्ड और इतने ही सिल्वर के साथ भारत ने खाता खोला, जिसके बाद भारोत्तोलकों ने भी तीन गोल्ड मेडल मेजबान देश की झोली में डाले।

कुश्ती में भारत ने महिला वर्ग में तीन जबकि पुरुष वर्ग में दो गोल्ड मेडल जीते। रजनीश और रविंदर ने क्रमश: पुरुष 65 किग्रा और 57 किग्रा भार वर्ग में गोल्ड मेडल जीते। महिला कुश्ती में प्रियंका सिंह ने 48 किग्रा, मनीषा ने 60 किग्रा और अर्चना तोमर ने 55 किग्रा वर्ग में गोल्ड मेडल हासिल किए।

भारत ने तैराकी स्पर्धा के पहले दिन श्रीलंका की कड़ी चुनौती से उबरते हुए तीन नये रिकार्ड के साथ चार गोल्ड और तीन सिल्वर मेडल जीते।

संदीप सेजवाल (पुरुष 200 मीटर ब्रेस्टस्ट्रोक) और शिवानी कटारिया (महिला 200 मीटर फ्रीस्टाइल) के अलावा महिला 100 मीटर फ्रीस्टाइल रिले टीम ने भी खेलों का नया रिकॉर्ड बनाया। दामिनी गौड़ा ने महिला 100 मीटर बटरफ्लाई में भारत के लिए दिन का चौथा गोल्ड मेडल जीता।

सेजवाल ने अपनी पसंदीदा स्पर्धा को दो मिनट 20.66 सेकेंड में जीतकर दो मिनट 21.03 सेकेंड के अपने ही रिकॉर्ड में सुधार किया। महिला 200 मीटर फ्रीस्टाइल में शिवानी ने सुबह हीट में दो मिनट 12.13 सेकेंड के समय के साथ नया रिकॉर्ड बनाया और फिर शाम को दो मिनट 8.68 सेकेंड के समय के साथ इसमें सुधार करते हुए गोल्ड मेडल जीता।

दामिनी ने महिला 100 मीटर बटरफ्लाई में एक मिनट 4.92 सेकेंड के साथ भारत को तीसरा गोल्ड मेडल दिलाया जबकि महिला चार गुणा 100 मीटर रिले टीम ने चार मिनट 1.95 सेकेंड के नए रिकॉर्ड के साथ सोने का तमगा जीता। भारत ने 2006 में कोलंबो में बनाए चार मिनट 8.72 सेकेंड के अपने ही रिकॉर्ड में सुधार किया।

शनिवार को आठ स्पर्धा में खेलों में छह नए रिकॉर्ड बने। श्रीलंका ने उम्मीद के मुताबिक भारत को कड़ी चुनौती देते हुए तीन गोल्ड, पांच सिल्वर और तीन ब्रॉन्ज मेडल जीते। पाकिस्तान ने एक सिल्वर जबकि बांग्लादेश ने डॉ. जाकिर हुसैन एक्वैटिक परिसर में चार सिल्वर मेडल जीते।

पुरुष 200 मीटर फ्रीस्टाइल में भारत के सौरभ सांगवेकर ने एक मिनट 53 .03 सेकेंड के साथ सिल्वर मेडल जीता जबकि पुरुष 100 मीटर बटरफ्लाई में भारत के सुप्रियो मंडल 55.86 सेकेंड के साथ सिल्वर मेडल जीतने में सफल रहे। पुरुष चार गुणा 100 मीटर फ्रीस्टाइल में भारत (तीन मिनट 30.78 सेकेंड) की रिले टीम ने श्रीलंका के बाद दूसरे स्थान पर रहते हुए सिल्वर मेडल जीता। श्रीलंका ने तीन मिनट 30.11 सेकेंड के साथ गोल्ड मेडल जीता।

भारत ने भारोत्तोलन में भी शुरुआत दबदबा कायम करते हुए तीन गोल्ड मेडल अपनी झोली में डाले। साइखोम मीराबाई चानू, हषर्दीप कौर और गुरुराजा ने गोल्ड मेडल हासिल किए।

चानू ने भारोत्तोलन स्पर्धा में भारत के लिए खाता खोला। राष्ट्रमंडल खेल 2014 की सिल्वर मेडलधारी इस भारोत्तोलक ने महिलाओं के 48 किग्रा वर्ग में 169 किग्रा (स्नैच में 79 किग्रा और क्लीन एवं जर्क में 90 किग्रा से अधिक) का वजन उठाया। SAG में पहली बार शामिल की गई महिला भारोत्तोलन स्पर्धा में इस तरह उन्होंने अपने प्रयास से स्नैच, क्लीन एवं जर्क तथा कुल वजन में दक्षिण एशियाई खेलों का रिकॉर्ड बनाया।

भारत के लिए दूसरा गोल्ड गुरुराजा ने जीता। उन्होंने पुरुष 56 किग्रा स्पर्धा में कुल 241 किग्रा (104 और 137 किग्रा) का वजन उठाया। तीसरा सोने का तमगा हषर्दीप कौर ने महिला 53 किग्रा वर्ग में हासिल किया। उन्होंने कुल 171 किग्रा (73 किग्रा और 98 किग्रा) का भार उठाया।

भारत के स्वर्णिम अभियान की शुरुआत साइकिलिस्टों ने की, जिन्होंने दांव पर लगे दोनों गोल्ड और सिल्वर मेडल अपने नाम किए। भारत पुरुषों की 40 किलोमीटर व्यक्तिगत टाइम ट्रायल स्पर्धा में पहले और दूसरे स्थान पर रहा, जबकि महिलाओं की 30 किलोमीटर व्यक्तिगत टाइम ट्रायल में भी मेजबान ने गोल्ड और सिल्वर जीते।

महिलाओं की 30 किमी व्यक्तिगत टाइम ट्रायल में तोरांगम बिद्यालक्ष्मी ने 49 मिनट 24.573 सेकेंड का समय निकालकर गोल्ड मेडल जीता जबकि मणिपुर की ही इलांगबाम चाओबा देवी दूसरे स्थान पर रही। पाकिस्तान की साहिबा बीबी को ब्रॉन्ज मेडल मिला।

पुरुषों की 40 किमी व्यक्तिगत टाइम ट्रायल में अरविंद पवार 52 मिनट 28.800 सेकेंड का समय निकालकर अव्वल रहे। मनजीत सिंह को सिल्वर मेडल मिला, जबकि श्रीलंका के जनाका हेमंता कुमारा को ब्रॉन्ज मेडल मिला।

उधर शिलांग में भारतीय तीरंदाजों ने व्यक्तिगत रिकर्व और कम्पाउंड वर्ग में चार गोल्ड और चार सिल्वर मेडल पक्के कर लिये। SAG खेलों के गत चैम्पियन तरुणदीप राय और गुरुचरण बेसरा ने सुबह के सत्र में दुनिया की पूर्व नंबर एक महिला तीरंदाज दीपिका कुमारी और बोम्बाल्या देवी लैशराम के साथ क्रमश: पुरुष और महिला वर्ग रिकर्व के फाइनल में जगह बना ली।

दोपहर के सत्र में अभिषेक वर्मा और रजत चौहान ने कम्पाउंड पुरुष वर्ग में जबकि पुर्वाशा शेंदे और ज्योति सुरेखा ने महिला वर्ग के फाइनल में प्रवेश किया। व्यक्तिगत कम्पाउंड और रिकर्व फाइनल में मुकाबला भारतीयों के बीच होगा जो क्रमश: आठ और नौ फरवरी को होगा, जिससे भारतीयों ने चार गोल्ड और चार सिल्वर मेडल पक्के कर लिए।

भारतीय पुरुष बैडमिंटन टीम ने भी ग्रुप-ए में मालदीव और बांग्लादेश को 3.0 के समान स्कोर से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

के. श्रीकांत ने मालदीव के मोहम्मद अजीफान रशीद को और अजय जयराम ने हुसैन जयान शाहिद जाकी को हराकर 2.0 की बढ़त दिलाई। मनु अत्री और सुमित रेड्डी की जोड़ी ने युगल में शाहिद जाकी और अजीफान को पराजित किया। भारतीय टीम ने फिर बांग्लादेश को 3.0 को हराकर ग्रुप-ए से सेमीफाइनल में जगह बनाई।

एच.एस. प्रणय ने अयमान जमान और बी. साई प्रणीत ने राइस उद्दीन को जबकि मनु-सुमित की जोड़ी ने अयमान और राइस की जोड़ी को हराया। टेबल टेनिस टीम में भी भारत की पुरुष और महिला वर्ग की टीमों ने सेमीफाइनल में प्रवेश किया।