ऋषभ ने फिर किया कमाल, शतक जड़कर टीम को सेमीफाइनल में पहुंचाया, बने मैन ऑफ द मैच

फातुल्लाह (बांग्लादेश)।…बांग्लादेश की मेजबानी में खेले जा रहे अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के क्वार्टर फाइनल में भारत ने शुक्रवार को नामीबिया को 197 रनों से हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 349 रन बनाए थे। जवाब में खेलते हुए नामीबिया 39 ओवरों में 152 रनों पर ढेर हो गई।

तीन बार के चैम्पियन भारत ने सलामी बल्लेबाज रुड़की के ऋषभ पंत (111) ने एक बार फिर जबरदस्त प्रदर्शन किया। उनके अलावा सरफराज खान (76) और अरमान जाफर (64) की शानदार पारियों की मदद से नामीबिया के खिलाफ विशाल स्कोर खड़ा किया था

350 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी नामीबिया की टीम की शुरुआत अच्छी रही थी। सलामी बल्लेबाज एस.जे लोफ्टी ईटोन (22) और निको डेविन (33) ने पहले विकेट के लिए 59 रन जोड़े। भारत के वाशिंगटन सुंदर ने भारत को पहली सफलता दिलाई। उन्होंने ईटोन को आउट कर पवेलियन भेजा।

इसके बाद आए कप्तान जेन ग्रीन (27) ने पारी को आगे बढ़ाया। उन्होंने ईटोन के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 21 रनों की साझेदारी की। ईटोन 80 के कुल स्कोर पर राहुल बाथम का शिकार हुए।

इसके बाद टीम के बाकी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों का सामना नहीं कर सके। टीम के विकेट ताश के पत्तों की तरह गिरते चले गए और पूरी टीम 152 रनों पर पवेलियन लौट चुकी थी।

भारत की तरफ से मयंक डागर और अनमोल ने तीन-तीन विकेट लिए। सुंदर को दो जबकि बाथम और खलील अहमद को एक-एक विकेट मिला। नामीबिया की तरफ से सबसे ज्यादा रन डेविन ने बनाए।

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। भारतीय टीम को शुरुआत में ही बड़ा झटका लगा, जब टीम के कप्तान इशान किशन (6) सस्ते में पवेलियन लौट गए।

इसके बाद जबरदस्त फॉर्म में चल रहे ऋषभ पंत ने अनमोल प्रीत सिंह (41) के साथ 103 रनों का साझेदारी की। ऋरभ ने इससे पहले नेपाल के खिलाफ अंतिम ग्रुप मैच में अंडर-19 क्रिकेट में सबसे तेज अर्धशतक लगाया था। उन्होंने अपना वही आक्रामक अंदाज इस मैच में भी जारी रखा। इस साझेदारी को डेविन ने तोड़ा। उन्होंने अनमोल को आउट कर पवेलियन भेजा।

इसके बाद आए सरफराज ने ऋषभ के साथ पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने सधी हुई बल्लेबाजी की। इसी बीच ऋषभ पंत ने अपना शतक पूरा किया। वह कुल 184 के स्कोर पर प्रांकोइस रोटेनबाक का शिकार हुए। उन्होंने अपनी पारी में 96 गेंदों का सामना किया और 14 चौके और दो छक्के जड़े।

सरफराज भी 281 के कुल स्कोर पर पवेलियन लौट चुके थे। उन्होंने अपनी पारी में 76 गेंदों का सामना करते हुए छह चौके और एक छक्का लगाया। निचले क्रम में जाफर और महिपाल लोमरुर (41) ने तेजी से रन बटोरे और टीम को विशाल स्कोर तक पहुंचाया

नामीबिया की तरफ से सबसे ज्यादा तीन विकेट प्रिट्ज कोएटजी ने लिए। उनके अलावा एस.जे लोफ्टी ईटोन, डेविन और रोटेनबाक ने एक-एक विकेट लिया। शतकवीर ऋषभ को मैन ऑफ द मैच चुना गया।