नेपाल में बातचीत की पटरी पर लौटे मधेसी, तीन बड़े दलों के नेताओं से की मुलाकात

काठमांडू।… संसद द्वारा संविधान के समर्थन के बाद पहली बार नेपाल के आंदोलनरत मधेसियों ने तीन बड़े राजनीतिक दलों के साथ वार्ता की। इसके साथ ही दोनों पक्षों के बीच वार्ता फिर से शुरू हो गई है, जो सीमांकन के विवादास्पद मुद्दे का समाधान नहीं निकलने के कारण रुक गई थी।

यूनाइटेड डेमोक्रेटिक मधेसी फ्रंट के प्रतिनिधियों ने सत्तारूढ़ सीपीएन-यूएमएल और यूसीपीएन-माओवादी तथा मुख्य विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस के नेताओं के साथ संसद सचिवालय में मुलाकात की। यह वार्ता पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प दहल प्रचंड की पहल पर हुई जो उच्च स्तरीय राजनीतिक समिति के अध्यक्ष भी हैं।

23 जनवरी को हुए पहले संविधान संशोधन के बाद से तीनों बड़ी पार्टियों और मधेसियों के बीच कोई औपचारिक बातचीत नहीं हुई थी। मधेसियों ने यह कहते हुए संविधान संशोधन को खारिज कर दिया था कि इससे उनके मुद्दों का समाधान नहीं हो सका है।