अल्पसंख्यक विद्यार्थी अब ऑनलाइन पा सकेंगे स्कॉलरशिप, आय प्रमाण की जरूरत नहीं

उत्तराखंड सरकार ने बड़ा कदम उठाया है, जिसके तहत अब राज्य ने अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं को मिलने वाली प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप को ऑनलाइन कर दिया गया है।

मदरसों और स्कूलों में पढ़ने वाले अल्पसंख्यक तबके के छात्र छात्राओं को अब मिलने वाली स्कॉलरशिप सीधे उनके बैंक खाते में भेजी जाएगी। राज्य सरकार ने इसके लिए कार्य योजना भी तैयार कर ली है।

जिन बच्चों का बैंक में कोई खाता नहीं है। उनकी स्कॉलरशिप उनके माता पिता के बैंक खातों में भेजी जाएगी। पहली से पांचवी क्लास तक के छात्र छात्राओं को 600, पांचवी से आठवी क्लास तक 960 और नवीं व दसवीं क्लास में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को 1440 रुपए सालाना वजीफा दिया जाता है।

अल्पसंख्यक महकमें के अफसरों का कहना है कि प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप ऑनलाइन होने से महकमे को मिलने वाली भ्रष्टाचार की शिकायतों पर भी रोक लग सकेगी। राज्य सरकार ने उस शर्त को भी खत्म कर दिया जिसके तहत छात्र-छात्राओं को आय प्रमाण पत्र दिया जाना लाजमी था। अब नए नियम के मुताबिक छात्र छात्राएं सेल्फ अटेस्टेड सर्टिफिकेट लगाकर उस शर्त को पूरी कर सकते हैं।