उत्तराखंड के नैनीताल जिले में रामनगर के ग्राम टेड़ा में बाजार नहीं ले जाने पर एक बच्चे ने खुद पर केरोसिन ऑयल छिड़ककर आग लगा ली। घटना का पता चलते ही परिवार और आसपास के लोगों में खलबली मच गई। आनन-फानन में बच्चे को संयुक्त अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से उसे हल्द्वानी रेफर कर दिया गया।

ग्राम टेड़ा निवासी दुर्गा देवी ने सोचा भी नहीं होगा कि उनका 10 साल का बेटा इतना बड़ा कदम उठा लेगा कि उसकी जान पर ही बन आएगी। दरअसल गुरुवार दोपहर दुर्गा देवी राशन लेने के लिए रामनगर आ रही थीं। इसी दौरान उनके बेटे रोहित (10) ने मां से बाजार ले जाने और जूते खरीदवाने की जिद की। मां के लाख समझाने के बाद भी रोहित रामनगर आने की जिद पर अड़ा रहा।

किसी तरह दुर्गा देवी जब रामनगर को निकली तो इधर घर में रोहित ने तैश में आकर खुद पर केरोसिन से भरे डिब्बे को उड़ेलकर आग लगा ली। उसके चिल्लाने की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे पड़ोसियों ने किसी तरह आग बुझाई और घटना की जानकारी दुर्गा देवी को दी।

रोहित को तुरंत 108 सेवा से संयुक्त चिकित्सालय पहुंचाया गया। जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए सीएमएस ने प्राथमिक इलाज के बाद उसे हल्द्वानी रेफर कर दिया। सीएमएस डॉ. एचएस खड़ायत ने बताया कि बच्चा 80 प्रतिशत से अधिक जल चुका है। उसके पेट, पैरों में ज्यादा ही आग लग चुकी थी। बेहतर इलाज के लिए उसे रेफर किया गया है।