इंटेलिजेंस ब्यूरो व एनआईए की टीम द्वारा हरिद्वार से पकड़े गए 4 आतंकियों से पूछताछ के बाद अभी आगे की कार्रवाई पूरी भी नहीं हो पायी थी कि उत्तराखंड में 8 और संदिग्धों की घुसपैठ ने पुलिस व खुफिया विभाग की नींद उड़ा दी है। इनमें से 1 संदिग्ध कैमरे में देखा भी गया है, जबकि अन्य 7 लोग कौन हैं? इसका कोई सुराग किसी के पास नहीं है।

पुलिस सरगर्मी से इन लोगों की तलाश में जुटी है। इस काम में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल व खुफिया विभाग की भी मदद ली जा रही है। प्रशासन ने किसी भी स्थिति से निपटने के लिए राज्य में मौजूद रक्षा प्रतिष्ठानों की सुरक्षा बढ़ा दी है।

उत्तराखंड के डीजीपी बीएस सिद्धू का कहना है, ‘कुछ समय से ऐसी सूचना मिल रही थी कि कुछ संदिग्ध लोगों को देहरादून में देखा गया है। गणतंत्र दिवस के लिए हमने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की है। एक संदिग्ध आदमी की तस्वीर हमारे पास है और हम उसे मीडिया के साथ साझा कर रहे हैं, ताकि वे उसे लोगों को दिखाकर उन्हें अलर्ट कर सकें। अगर इसे कहीं देखा जाता है तो हमें तुरंत सूचना दी जाए।’

25-26 जनवरी की देर रात इन संदिग्धों की उत्तराखंड में घुसपैठ की सूचना के बाद से समूचे राज्य में हड़कंप मचा हुआ है। खुद पुलिस महानिदेशक बी.एस. सिद्धू इन लोगों की तलाशी के लिए चलाए जा रहे अभियान की निगरानी कर रहे हैं। इन 8 संदिग्ध लोगों में से 1 को देहरादून में देखा गया है, जिसके बाद देहरादून में मौजूद रक्षा प्रतिष्ठानों व दूसरी जगहों की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। तमाम सुरक्षा एजेंसियों को संदिग्ध युवक की फोटो उपलब्ध करवाकर इसकी व इसके साथियों की तलाश में जुटने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही इस बार आईबी व एनआईए से भी संपर्क किया गया है।

डीजीपी ने कहा, ‘सुरक्षा कारणों से हम ऑपरेशन से जुड़ी ज्यादा जानकारी साझा नहीं कर सकते। हम उसका स्कैच जारी कर रहे हैं और लोगों से अनुरोध करेंगे कि अगर कहीं भी वो आदमी दिखे तो वो हमें उसके बारे में बताए।’