मानव तस्करी से जुड़े हैं देहरादून नारी निकेतन के तार : महिला आयोग

उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून स्थित नारी निकेतन में हुए यौन शोषण और दो संवासिनियों का मामला अब सियासी रूप ले चुका है। रोजाना इस मामले में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। बीजेपी ने जहां इस मामले की राष्ट्रीय महिला आयोग से शिकायत की और राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य रेखा शर्मा ने नारी निकेतन में मामले में संवासिनियों के बयान दर्ज किए और कई सबूत जुटाए।

साथ ही बीजेपी के एक प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रीय महिला आयोग की जांच टीम से मुलाकात कर पूरे मामले की सीबीआई से जांच की मांग की। बीजेपी का कहना है कि इस मामले में कई सफेदपोश हो सकते हैं, जिन पर हाथ डालने से पुलिस हिचक रही है। ऐसे में पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठना लाजिमी है।

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष और उपाध्यक्ष ने राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य से मुलाकात की। राज्य महिला आयोग के उपाध्यक्ष प्रभावती गौड़ का कहना है कि नारी निकेतन के तार मानव तस्करी से जुड़े हैं। उनका कहना है कि उनके पास इसके सबूत भी हैं कि कई मूकबधिर महिलाएं मानव तस्करी का शिकार हुई हैं।

फिलहाल इस पूरे मामले में एक बात समझने की ये है कि अब चाहे अधिकारी हो या फिर किसी महिला आयोग की सदस्य, सभी अपने-अपने स्तर से बयानबाजी कर रहे हैं, जिससे मामला सुलझने की बजाए उलझता जा रहा है।

दरअसल राष्ट्रीय महिला आयोग की जांच टीम जहां प्रदेश सरकार की जांच एजेंसी पर सवाल खड़े किए हैं, वहीं अब सवाल उठाना लाजिमी है क्या राज्य सरकार राष्ट्रीय महिला आयोग की किसी सिफारिश को मान सकती है। इस तरह से देखा जाए तो पूरे मामले में अब खुलासे की तरफ जांच कम सियासत ज्यादा हो रही है। ऐसे में क्या सच्चाई है, इस बात की जांच तो होनी ही चाहिए।