जनवरी का महीना भी खत्म होने को आया, लेकिन उत्तराखंड में अभी तक कंपकपाती ठंड का ऐहसास नहीं हुआ। इस सब के बीच मंगलवार रात को राज्य में मौसम का मिजाज एकदम बदल गया। मंगलवार रात से ही अल्मोड़ा और पिथौरागढ़ जिले के कई ईलाकों में बर्फबारी शुरू हो गई है।

अस्थायी राजधानी देहरादून में मंगलवार को बादलों और हल्की हवाओं की वजह से ठंड बढ़ गई। पारे में भी करीब दो डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग ने पिथौरागढ़ को छोड़कर बाकी प्रदेश में अब भी मौसम शुष्क रहने का अनुमान जताया है।

मंगलवार को प्रदेश में कई जगह की तरह अस्थायी राजधानी में भी बादल छाए रहे। पारे में सोमवार के मुकाबले करीब दो डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। दिन का अधिकतम तापमान 20 डिग्री तक पहुंचा, लेकिन दिन में ज्यादातर समय तापमान 18 डिग्री से नीचे ही रहा।

snowfall2
मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि बुधवार को प्रदेश में कुमाऊं मंडल में विशेषकर पिथौरागढ़ में हल्की बारिश और बर्फ पड़ सकती है। बाकी जगहों पर मौसम शुष्क रहेगा। उन्होंने बताया कि हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर सहित कई मैदानी क्षेत्रों में सुबह को कोहरा छा सकता है। राजधानी में बुधवार को आसमान साफ रहने के साथ ही आंशिक बादल भी आ सकते हैं।

अल्मोड़ा बर्फबारी, पर्यटकों के बढ़ने की उम्मीद
अल्मोड़ा जिले में मौसम की पहली बर्फबारी हुई है। जागेश्वर, मौरनोला सहित ऊंचाई वाले स्थानों पर मंगलवार देर रात से ही बर्फ गिर रही है, जिससे स्थानीय लोगों में काफी खुशी हैं।

snowfall1

इस साल की सर्दी में अभी तक बारिश भी नहीं हुई थी, जिससे किसान काफी परेशान थे। बुधवार को हुई कई क्षेत्रों में बारिश से किसानों को फसल की उम्मीद जग गई है। इस बर्फबारी के बाद पर्यटकों के बढ़ने की भी उम्मीद जताई जा रही है।

स्थानीय निवासियों का कहना है कि बारिश नहीं होने से अभी तक गेंहू की फसल नहीं जमी थी। अब बारिश की शुरुआत हो गई है और उम्मीद है कि अब गेंहू की फसल अच्छी होगी, इसके साथ ही जो सूखी ठंड से बिमारियां हो रही थीं उनसे भी निजाद मिलेगी।

पिथौरागढ़ में भी बर्फ से ढ़के पहाड़
उत्तराखंड के सीमांत जिले पिथौरागढ़ में भी मौसम का मिजाज अचानक बदल गया। जिले में मंगलवार रात से ही अधिकांश हिस्सों में बारिश शुरू हो गई है, जबकि ऊंची चोटियों में भारी बर्फबारी हो रही है। मौसम बदलने से तापमान में भी भारी गिरावट आई है। बताया जा रहा है कि हंसलिंग, पंचाचूली और राजरंभा की चोटियां सफेद चादर से पटी हैं, जबकि गंगोलीहाट, डीडीहाट, पिथौरागढ़, बेरीनाग तहसील क्षेत्र में अधिकांश जगह बारिश हुई है। जिन इलाकों में बारिश नहीं हो पाई है, वहां भी काले बादल छाए हुए हैं।

snowfall

मौसम बदलने से इन इलाकों में 5 से 6 डिग्री तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। तामपान गिरने से पहाड़ी इलाकों में आम जन-जीवन भी खासा प्रभावित हुआ है। जिला आपदा प्रबंधन केन्द्र मौसम के बदले हुए मिजाज पर नजर रखे हुआ है। आपदा प्रबंधन अधिकारी ने बताया कि अगर मौसम ज्यादा खराब रहता है तो आपदा प्रबंधन टीमों को भी अलर्ट किया जाएगा।