उत्तराखंड रोडवेज की दो बसों को अंबाला में बनाया गया बंधक, प्रति बस 21.50 लाख की मांग

पांच दिन पहले उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून से हरियाणा जा रही ग्रामीण डिपो की दो बसें अंबाला में वहां के एआरटीओ ने सीज कर दी। जब निगम के बाबू उन्हें छुड़ाने गए तो उनसे प्रति गाड़ी 21.50 लाख रुपये जमा कराने की बात कही गई।

अंबाला आरटीओ की यह बात सुनकर बाबू बैरंग लौट आए। इस संवेदनशील मामले पर उच्चाधिकारियों के कानों पर अब तक जूं तक नहीं रेंगी है। जबकि निगम के अधिकारी जल्द ही मामले को सुलझाने की बात कह रहे हैं।

आईएसबीटी से ग्रामीण डिपो की दो बसें UK 07P 1068 और UK 07P 1071 दस जनवरी को सुबह साढ़े नौ और साढ़े दस बजे हरियाणा के लिए रवाना हुई थी, जिन्हें अंबाला में एआरटीओ से चेकिंग के दौरान सीज कर दिया।

इस संबंध में पहले प्रति गाड़ी 22 हजार रुपये जुर्माना भरने को कहा गया, लेकिन जब परिवहन निगम के बाबू 44 हजार रुपये लेकर अंबाला पहुंचे तो एआरटीओ ने प्रति गाड़ी 22.50 लाख रुपये जमा करने की बात कही। इस पर वे वापस लौट आए।