उत्तराखंड में कुमाऊं अंचल के पहाड़ी जिले पिथौरागढ़ में उच्च हिमालयी क्षेत्र के सबसे दूरस्थ गांव रालम में तीन दिन पहले आए बर्फीले तूफान ने तबाही मचा दी है। दूरस्थ गांव होने के कारण यहां से सूचना भी देर से मिली।

उच्च हिमालयी क्षेत्र के सबसे दूरस्थ गांव रालम में आठ जनवरी को आए बर्फीले तूफान से 40 घरों की छतें उड़ गईं और दीवारें भी ढह गईं।

समुद्र तल से 2290 मीटर की ऊंचाई पर स्थित रालम गांव में 100 परिवार रहते हैं, सर्दियां शुरू होने से पहले ही ये परिवार निचले स्थानों पर चले जाते हैं। इसलिए नुकसान कम हुआ। दो साल पहले भी इस गांव में बर्फीले तूफान से भारी नुकसान हुआ था।

रालम के प्रधान लक्ष्मण सिंह दरियाल ने बताया कि बर्फीले तूफान से गांव के 40 मकानों की छतें उड़ गई हैं और दीवारें टूट गई हैं। दरियाल ने बताया कि उन्होंने बर्फीले तूफान से हुए नुकसान की जानकारी उप-जिलाधिकारी को दे दी है।

एसडीएम कौस्तुभ मिश्रा ने बताया कि जल्द ही राजस्व विभाग की टीम रालम गांव भेजी जाएगी और नुकसान का आकलन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि रालम गांव से ज्यादातर लोग इस समय अपने सर्दियों के निवास पर गए हुए हैं।

दो चार लोग मकानों की देखरेख के लिए गांव में रहते हैं। विधायक प्रतिनिधि हीरा सिंह चिराल ने बताया कि रालम गांव में बर्फीले तूफान से हुए नुकसान की जानकारी इकट्ठा की जा रही है। बाद में इसकी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को भी भेजी जाएगी।

उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हिमपात के दौरान तेज हवाएं चलती हैं। तेज हवा के साथ बर्फ गिरने लगे तो इसे बर्फीला तूफान कहते हैं। मौसम विभाग का कहना है कि ऐसी घटनाएं सर्दियों में अक्सर होती रहती हैं। मौसम विभाग के उप-महानिदेशक डॉ. आनंद शर्मा ने बताया कि बर्फीले तूफान की गति 100 किमी प्रतिघंटा से भी ज्यादा होती है।

पिथौरागढ़/मुनस्यारी के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बीते दिनों हुई बर्फबारी के कारण पूरा जिला इस समय जबर्दस्त शीतलहर की चपेट में है। मुनस्यारी में रविवार को न्यूनतम तापमान एक डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

शनिवार को यह माइनस 2 डिग्री था। जिला मुख्यालय में भी न्यूनतम तापमान में थोड़ा सुधार आया है। यह रविवार को 3.1 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। शनिवार को जिला मुख्यालय का न्यूनतम तापमान 1.7 डिग्री रहा था।

मौसम विभाग के अनुसार अभी हल्के और मध्यम स्तर के बादल छाए रहेंगे लेकिन फिलहाल बारिश की कोई संभावना नहीं है। अधिकतम तापमान में गिरावट का क्रम जारी रहेगा। रात के समय पाला गिरेगा।