जल्द खुलेगा एक हज़ार सरकारी नौकरियों का पिटारा

उत्तराखंड के युवाओं के लिए खुशखबरी हैं। प्रदेश में एक हजार प्रशिक्षित बेरोजगारों का शिक्षक बनने का सपना हकीकत में जल्द तब्दील होने जा रहा है।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अधिकारियों को प्राथमिक विद्यालयों में रिक्त पदों पर नियुक्ति के निर्देश दिए हैं। अपर मुख्य सचिव एस राजू ने कहा कि विभाग में शिक्षकों के करीब एक हजार पद रिक्त हैं। 31 मार्च 2016 से पहले इन्हें नियुक्ति दे दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को शिक्षा विभाग के अधिकारियों और बीएड टीईटी संघ की बैठक ली। बैठक में उन्होंने विभागीय अधिकारियों को प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया मार्च तक करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के लिए 11 जनवरी को उच्च स्तरीय अधिकारियों की बैठक बुलाई गई है। उन्होंने शिक्षा के स्तर में सुधार हेतु संघ के सुझाव भी सुने। बैठक में मुख्य सचिव शत्रुघ्न सिंह, अपर मुख्य सचिव एस राजू, निदेशक माध्यमिक शिक्षा डॉ आरके. कुंवर, निदेशक प्रारंभिक शिक्षा सीमा जौनसारी पदाधिकारी आदि मौजूद रहे।

एससीईआरटी की गाइड लाइन के अनुरूप 31 मार्च 2016 के बाद बीएड प्रशिक्षित बेरोजगार प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षक नहीं बन पाएंगे। बेसिक शिक्षा निदेशक सीमा जौनसारी ने कहा कि इसे देखते हुए विभाग प्रयास कर रहा है कि इससे पहले ही सभी रिक्त पदों पर शिक्षकों की भर्ती कर दी जाए।

मुख्यमंत्री ने भी सभी रिक्त पदों पर जल्द भर्ती के निर्देश दिए हैं। शिक्षा निदेशक ने कहा कि बेरोजगार बेसिक शिक्षकों के 6200 पद रिक्त बता रहे हैं। जिसका मिलान करके रिक्त पदों पर शिक्षकों की भर्ती की जाएगी।