देहरादून नगर निगम की बोर्ड बैठक में चाय बागान की जमीन पर स्मार्ट सिटी बनाए जाने का प्रस्ताव पास होने का मामला तूल पकड़ने लगा है। मामले में निगम के पार्षद अरुण खन्ना ने पीएमओ को चिट्ठी लिखकर शिकायत की थी।

प्रधानमंत्री कार्यालय को लिखी चिट्ठी में उन्होंने आरोप लगाया था कि बोर्ड बैठक में पार्षदों को बिना विश्वास में लिए प्रस्ताव पास किया गया। पीएमओ ने मामले को संज्ञान लेते हुए शहरी विकास मंत्रालय को उचित कार्रवाई के लिए कहा है।

दरअसल, चाय बागान की जमीन पर स्मार्ट सिटी बनाए जाने को लेकर निगम ने एक बोर्ड बैठक बुलाई थी। बोर्ड बैठक में प्रस्ताव पास भी हो गया, लेकिन कुछ पार्षद इस बात पर नाराज हो गए कि उन्हें बिना विश्वास में लिए प्रस्ताव पास कर दिया गया।

बीजेपी से निष्कासित पार्षद अरुण खन्ना भी उन्ही में से एक थे। पार्षद ने बोर्ड बैठक के कुछ दिन बाद पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्टी लिखते हुए पूरे मामले की शिकायत कर दी।

चिट्ठी का जवाब देते हुए शहरी विकास मंत्रालय ने कहा है कि मामले को गंभीरता के साथ देखा जा रहा है और इस पर भी जो भी कार्रवाई होगी जानकारी दी जाएगी।