देहरादून की बेटी साहिबा अंसारी ने देश में उत्तराखंड का नाम रोशन कर दिया है। मैसूर में आयोजित किशोर वैज्ञानिक सम्मेलन में साहिबा ने टॉप-10 वैज्ञानिकों में स्थान बनाया। साहिबा माजरा के रिवरेन पब्लिक स्कूल की कक्षा 10वीं की छात्रा है।

मैसूर यूनिवर्सिटी, मैसूर कर्नाटक में सोमवार को 103वीं राष्ट्रीय विज्ञान कांग्रेस में किशोर वैज्ञानिक सम्मेलन का आयोजन किया गया। इनफोसिस हर साल स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा विज्ञान के क्षेत्र में हो रहे वास्तविक शोधों और अविष्कारों से संबंधित निबंध प्रतियोगिता का आयोजन करता है। पूरे देश से 10 उत्कृष्ट प्रविष्टियों को पुरस्कृत किया जाता है।

देशभर की 10 प्रविष्टियों में रिवरेन पब्लिक स्कूल में कक्षा 10वीं में पढ़ने वाली साहिबा अंसारी को भी स्थान मिला है। नोबल पुरस्कार विजेता सर जॉन वी. गुरडो ने इन किशोर वैज्ञानिकों को सम्मानित किया। जिला विज्ञान समन्वयक निर्मल रावत, स्कूल के प्रबंधक मयंक भूषण शर्मा, प्राचार्या मंजू शर्मा ने उसको बधाई देते हुए बताया कि साहिबा के पिता शरफराज एक सामान्य परिवार से ताल्लुक रखते हैं।

प्रतियोगिता में हजारों छात्र-छात्राएं भाग लेते हैं, जिनमें से साहिबा का चुना जाना स्कूल, देहरादून और उत्तराखंड के लिए बड़े ही गौरव की बात है। सम्मेलन में देश-विदेश से वैज्ञानिक, शिक्षक शिक्षिकाएं मौजूद रहे।