हरिद्वार।… उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सोमवार को कहा कि इस साल हरिद्वार में गंगा के किनारे अर्द्धकुंभ मेले के दौरान श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधाओं को शीर्ष प्राथमिकता पर रखा जाना चाहिए।

मेले के आयोजन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए सोमवार को हर-की-पौड़ी का दौरा करने वाले हरीश रावत ने अधिकारियों से कहा कि श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधा के लिए बनाए जा रहे नए पुलों के निर्माण की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस संबंध में कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

अर्द्धकुंभ का पहला पारंपरिक स्नान 14 जनवरी को मकर संक्रांति के अवसर पर होगा। हरीश रावत ने मेला नियंत्रण कक्ष में अधिकारियों के साथ बैठक की और तैयारियों की समीक्षा की। मेला अधिकारियों के अनुसार रावत ने तैयारियों की समीक्षा के मद्देनजर हर-की-पौड़ी और मनसा देवी पर्वतीय बाईपास मार्ग का दौरा किया।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने घोषणा की कि वह 12 जनवरी को अखाड़ों के महंतों और साधु-संतों की मौजूदगी में एक भव्य समारोह में मेले का औपचारिक रूप से उद्घाटन करेंगे।