एनएसजी के लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन हुए शहीद

पठानकोट।… भारतीय वायुसेना के हवाईअड्ड़े से रविवार शाम काफी धुआं निकलता देखा गया, जहां सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी चल रही थी। इस कार्रवाई में आखिरकार सभी 6 आतंकवादियों को मार गिराया गया।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, शनिवार को 4 आतंकवादियों के मार गिराए जाने के बाद भी दो अन्य आतंकवादी हवाईअड्डे के अंदर छुपे थे, जिन्हें रविवार की कार्रवाई में मार गिराया गया। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, सुरक्षा बलों ने अब सभी 6 आतंकवादियों को मार गिराया है।

रविवार को परिसर के अंदर एक विस्फोट हुआ, जिसमें एनएसजी के एक अधिकारी शहीद हो गए। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल निरंजन की शहादत के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि पठानकोट में तलाशी अभियान के दौरान निरंजन की जान चली गई।

राजनाथ ने मौत की वजहों का विवरण नहीं दिया है। लेकिन, आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि हवाई अड्डे पर किसी चीज को उठाने के दौरान उसमें विस्फोट हो गया और निरंजन की मौत हो गई।

पठानकोट के वायुसेना अड्डे पर शनिवार को हुए आतंकी हमले में चार आतंकवादियों को मार गिराया गया था। तड़के हुए इस हमले में तीन वायुसैनिक शहीद हुए थे। डिफेंस सिक्योरिटी कार्प्स (डीएससी) से संबद्ध तीन अन्य घायल वायुसैनिकों की रविवार को मौत हो गई।

सूत्रों ने बताया कि उस इलाके में कोई नुकसान नहीं हुआ है जहां मिग-21 लड़ाकू विमान, एमआई-35 लड़ाकू हेलीकॉप्टर और अन्य महत्वपूर्ण साजो-सामान रखे हुए हैं।

वायुसेना अड्डे और आसपास के इलाकों में तलाशी अभियान जारी है। सेना, एनसीजी, वायुसेना कमांडो, अर्धसैनिक बल और पंजाब पुलिस को अभियान में लगाया गया है।

वायुसेना के हेलीकॉप्टरों ने जमीनी सुरक्षा बलों की मदद के लिए शनिवार रात और रविवार सुबह वायुसेना अड्डे के ऊपर और आसपास उड़ान भरी।

पंजाब पुलिस के एक वरिष्ठ अफसर ने कहा, ‘तलाशी अभियान जारी है। सभी चीजों पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। तलाशी खत्म होने के बाद ही अभियान को रोका जाएगा।’

आंतकवादी 30-31 दिसंबर की रात को पाकिस्तान से भारतीय क्षेत्र में घुसे थे। सीमा यहां से 30 किलोमीटर दूर स्थित है। सुरक्षा एजेंसियां आतंकियों को स्थानीय स्तर पर मिलने वाली संभावित मदद की भी जांच कर रही हैं।

इस बात को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है कि वायुसेना अड्डे में कितने आतंकवादी मारे गए हैं। राजनाथ सिंह ने अपने पहले के एक ट्वीट में यह संख्या पांच बताई थी।

अधिकारियों ने अंत में इनकी संख्या चार बताई। माना जा रहा है कि ये सभी आंतकवादी हमले के दौरान पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं के संपर्क में थे।