रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर में रेलवे के विकास के लिए इंटीग्रेटेड प्लान तैयार किया जाएगा। शिवरात्रि से पहले जम्मू-हरिद्वार के बीच एक नई ट्रेन शुरू की जाएगी।

जल्द ही रक्षा मंत्रालय, भूतल परिवहन मंत्रालय, वित्त मंत्रालय के साथ ही जम्मू-कश्मीर के प्रतिनिधियों के साथ बैठककर इसका खाका तैयार किया जाएगा। रेल मंत्रालय यहां नेटवर्क तथा यात्री सुविधाओं के विस्तार के लिए सजग है।

उन्होंने जम्मू स्टेशन पर मल्टी फंक्शनल कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन करने के साथ ही स्वचालित सीढ़ियों एवं लिफ्ट, मैकेनाइज्ड लांड्री और एक्जीक्यूटिव लाउंज की भी आधारशिला रखी।

इस दौरान प्रभु ने जम्मू में सेटेलाइट टर्मिनल की घोषणा करते हुए कहा कि रेलवे लाइन क्रॉसिंग पर जितने भी आरओबी बनाए जाने होंगे उसके लिए शत-प्रतिशत धन रेलवे देगा। अब तक 50-50 फीसदी राशि का प्रावधान था।

प्रभु ने कहा कि रेलवे धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में कार्य कर रहा है। इसके तहत जम्मू से हरिद्वार के लिए शिवरात्रि तक ट्रेन सुविधा बढ़ाई जाएगी। आईआरसीटीसी जम्मू-कश्मीर के व्यंजनों की मार्केटिंग का प्लान बना रहा है।

उन्होंने कहा कि यहां के स्वयं सहायता समूह की मार्केटिंग का भी प्लान बन रहा है। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में रेलवे काफी काम कर रहा है। जम्मू-कश्मीर में तो इसकी अपार संभावना है। इस दिशा में भी रेलवे काम करेगा।

उन्होंने कहा कि रेलवे कस्टमर सेवाओं पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित किए हुए है। अब तो ई-कैटरिंग की सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है। लोगों को ट्रेनों में मनपसंद भोजन मुहैया कराया जा रहा है।

कहा कि देशभर में 400 स्टेशनों पर एक्जीक्यूटिव लाउंज की सुविधा उपलब्ध कराने की कोशिश शुरू कर दी गई है। जल्द ही स्टेशन पर पहुंचते ही लोगों को एयरपोर्ट की सुविधाओं का एहसास होगा।

कहा कि रेलवे के लिए जम्मू-कश्मीर अहम है। कश्मीर को दिल्ली से न केवल रेल के माध्यम से बल्कि दिल के माध्यम से भी जोड़ा जाएगा। कश्मीर घाटी के लिए नई ट्रेन सुविधा जल्द ही शुरू होगी।