पठानकोट।… पंजाब के पठानकोट स्थित एयरफोर्स बेस पर शनिवार तड़के आतंकवादियों ने हमला बोल दिया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में सभी पांचों आतंकियों को मार गिराया है। हमले में एयरफ़ोर्स के तीन जवान भी शहीद हो गए। मुठभेड़ खत्म होने के बाद भी सर्च ऑपरेशन काफी देर तक चला। यह हमला एयरफोर्स बेस पर तीन तरफ से किया गया। एयरफोर्स की अपनी कमांडो टीम ‘गरुड़’ ने भी ऑपरेशन में हिस्सा लिया।

शनिवार तड़के तीन बजे के करीब आतंकियों ने पठानकोट एयरबेस पर हमला बोल दिया। सभी आतंकी सेना की वर्दी में आए थे। ये आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के बताए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि पहले से ही सेना, वायुसेना को हमले का अलर्ट जारी कर दिया गया था। एयरबेस पर सेना की दो टुकड़ियों को भी तैनात कर दिया गया था। आतंकी सेना की वर्दी में एयरबेस में घुसे थे।

वायुसेना का यह स्टेशन मिग-29 और अटैक हेलीकॉप्टर का बेस है। इस हमले में वायुसेना के सारे विमान सुरक्षित बताए जा रहे हैं। पूरे इलाके को सुरक्षा बलों ने घेरा हुआ है।

बताया जा रहा है कि तड़के 3.30 बजे सेना की वर्दी में आतंकी एक सरकारी गाड़ी में सवार होकर एयरफोर्स स्टेशन में घुसे और फिर गोलियां बरसानी शुरू कर दी। हालांकि सुरक्षा बलों ने आतंकियों को सुरक्षाबलों के मेस के पास रोके रखा।

pathankot-terror-attack

सूत्रों के अनुसार, पठानकाट एयरबेस हमले के पीछे आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का हाथ होने का शक है। गृह मंत्रालय के मुताबिक, जिस तरीक़े से हमला हुआ, उससे लगता है कि जैश ने ही इस हमले को अंजाम दिया।

इससे पहले पठानकोठ में सेना की वर्दी पहने चार-पांच संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकियों ने एक पुलिस अधीक्षक और दो अन्य लोगों का गुरुवार रात अपहरण कर लिया था। इन संदिग्ध आतंकियों ने उन लोगों के साथ मारपीट की और कुछ दूरी पर उन्हें छोड़कर गाड़ी से भाग गए थे।

pathankot-terror-attack1

पाकिस्तान की सीमा से सिर्फ 15 किलोमीटर दूर घटी इस घटना के बाद राज्य भर में हाई अलर्ट घोषित कर दिया था। ऐसी आशंका है कि पुलिस अधीक्षक के अपहरण में शामिल आतंकी ही इस हमले में शामिल हैं।