उत्तराखंड से लेकर दिल्ली-NCR तक कांपी उत्तर भारत की धरती, भूकंप का केंद्र हिंदूकुश पर्वतों में

नई दिल्ली/इस्लामाबाद/काबुल।… उत्तर भारत, पाकिस्तान व अफगानिस्तान के कई हिस्सों में शनिवार दोपहर भूकंप के झटके महसूस किए गए। भारत भूकंप के झटके उत्तराखंड से लेकर दिल्ली-NCR और कश्मीर से लेकर पाकिस्तान तक महसूस किए गए। दोपहर सवा दो बजे के आसपास भूकंप के झटके महसूस किए गए।

भारत मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.8 मापी गई, जबकि अमेरिकी भूगर्भ सर्वेक्षण (यूएसजीएस) ने भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.3 बताई है।

भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान के हिंदूकुश के पहाड़ी इलाके में 175 किलोमीटर की गहराई में था। जम्मू एवं कश्मीर में भूकंप के झटके महसूस किए जाने के बाद भयभीत लोग अपने घरों व कार्यालयों से बाहर निकल आए। झटकों का असर पाकिस्तान व अफगानिस्तान के विभिन्न हिस्सों में भी महसूस किया गया।

पाकिस्तान के मौसम कार्यालय के महानिदेशक गुलाम रसूल ने कहा कि भूकंप के झटके 278 किलोमीटर के दायरे में महसूस किए गए और आने वाले दिनों में मध्यम व उच्च तीव्रता के कई झटके महसूस किए जाने की संभावना है।

उन्होंने कहा कि हिंदूकुश पहाड़ी इलाके के निकट यूरेशियन व टैक्टॉनिक प्लेटें वर्तमान में सक्रिय हैं, जिसके कारण भूकंप आने की संभावना बनी हुई है।

रसूल ने कहा कि जब ये प्लेटें आपस में टकराती हैं, तो इनसे ऊर्जा उत्पन्न होती है, जिसके कारण सिसमिक लहरें पैदा होती हैं, जो भूकंप का कारण बनती हैं। पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद तथा पंजाब व उत्तर-पश्चिमी खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में शनिवार दोपहर भूकंप के झटके महसूस किए गए।

इन झटकों से लोग भयभीत हो गए, लेकिन इसके कारण अभी तक जानमाल की किसी भी प्रकार की क्षति की कोई खबर नहीं मिली है। पिछले एक सप्ताह के दौरान, यह तीसरा भूकंप था, जिसकी तीव्रता पांच से ऊपर दर्ज की गई।

पाकिस्तान में 26 दिसंबर को 6.9 तीव्रता का भूंकप आया था, जिसके कारण खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में दो लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 60 अन्य घायल हो गए थे।