धार्मिक नगरी हरिद्वार में 14 जनवरी से लगने जा रहे अर्धकुंभ में मेला क्षेत्र के चप्पे-चप्पे पर आकाश से नजर रखने के लिए बुधवार को डीआईजी अर्द्धकुंभ ने विभिन्न कंपनियों के ड्रोन की क्षमता का परीक्षण कराया।

सीसीआर से ड्रोन ने करीब 12 मिनट की उड़ान हरकी पैड़ी और मनसा देवी पर्वत तक भरी, लेकिन बुधवार को आए ड्रोन पुलिस की कसौटी पर खरे नहीं उतर सके।

अर्द्धकुंभ मेले में पहली बार पुलिस संदिग्धों पर नजर रखने के लिए ड्रोन की मदद लेने जा रही है। इसके लिए बुधवार को हरिद्वार में मेला पुलिस ने ड्रोन का परीक्षण कराया।

डीआईजी अर्द्धकुंभ ने बताया कि हरकी पैड़ी, मनसा देवी, चंडी देवी सहित तमाम प्रमुख स्थलों पर ड्रोन से स्नान के दौरान नज़र रखी जाएगी। कुछ और कंपनी के ड्रोन भी डेमो के लिए बुलाए गए हैं, जिसके बाद किस कंपनी का ड्रोन लेना है फाइनल किया जाएगा।