दबाव में कांग्रेस, नारी निकेतन मामले में मुख्यमंत्री से की कार्रवाई की मांग

अस्थायी राजधानी देहरादून के नारी निकेतन में पहले बलात्कार और गर्भपात को लेकर सरकार की जमकर किरकिरी हुई और अब दो संवासनियों की मौत व 8 अन्य के अचानक बीमार होने के कारण मुसीबत और बढ़ गई है।

बीजेपी के लगातार बढ़ रहे विरोध-प्रदर्शन का दबाव कांग्रेस पार्टी पर इस कदर हावी है कि अब पार्टी के वरिष्ठ नेता भी मुख्यमंत्री से सख्त कदम उठाने की मांग करने लगे हैं।

नारी निकेतन में संवासनियों की लगातार बिगड़ती हालत के बाद अस्पताल में भर्ती होने का क्रम जारी है। दो संवसनियों की मौत के बाद 4 और संवासिनियां पहले ही अस्पताल में भर्ती हो चुकी हैं।

मंगलवार को चार अन्य को भी खराब हालत के बाद अस्पताल में दाखिल किया गया। माना जा रहा है कि नारी निकेतन में रहने वाली संवासनियों की खराब दशा महज कुछ दिन की लापरवाही नहीं है।

इसके पीछे प्रशासन की ऐसी चूक रही है, जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता है। कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट ने कहा इस मामले में पार्टी भी सरकार से मांग कर रही है कि तुरंत जिम्मेदार अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई की जाए, क्योंकि हालात दिन-ब-दिन बिगड़ते ही जा रहे हैं और इसका सीधा असर सरकार की छवि पर पड़ रहा है।