टिहरी जिले के जाखणीधार ब्लॉक की एक महिला ने अपने पति के सिर पर दरांती से वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया। यही नहीं महिला ने दो दिन तक पति के शव को घर के अंदर छुपाए रखा। पुलिस हत्या का मुकदमा दर्ज कर महिला और उसके चार बच्चों से पूछताछ कर रही है। मृतक का समधी घटना के बाद से गांव से फरार चल रहा है। घटना की वजह अभी पता नहीं चल पाई है। पुलिस इसे ‘प्रेम प्रसंग’ से जोड़कर भी देख रही है।

पुलिस के मुताबिक 24 दिसंबर को म्यूडा गांव के जबर सिंह गुनसोला (50) और उनकी पत्नी जोत्रा देवी (45) के बीच रात को करीब नौ बजे झगड़ा हुआ। इसी दौरान महिला ने अपने पति के सिर पर उल्टी दरांती से वार कर दिया, जिससे उसका सिर फट गया।

मकान गांव से थोड़ी दूर होने के कारण ग्रामीणों ने शोर सुना, तो लगा गांव में गुलदार आया होगा, इसलिए शोर हो रहा है। अगले दिन 25 दिसंबर को जब गांव के लोग वहां शोर का कारण पूछने गए तो बच्चों ने बताया कि उनके माता-पिता में झगड़ा हो गया था। हालांकि बच्चों ने भी घटना की सही जानकारी नहीं दी।

जब लोगों को जबर सिंह का पता नहीं चला, तो उन्होंने उसके भाई सुरमान सिंह जो कि हरिद्वार पत्थरी में रहता है, को इसकी सूचना दी। सुरमान सिंह शनिवार को हरिद्वार से घर पहुंचा, तो वहां भाई को न देखकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो बच्चों ने घटना की जानकारी दी। पुलिस घर के अंदर गई, तो एक कमरे में जबर सिंह का लहूलुहान शव एक कोने में पड़ा था। उसके ऊपर एक चादर डली हुई थी।

पुलिस ने महिला से पूछताछ की तो उसने बताया कि झगड़ा हो गया था। 25 दिसंबर सुबह नौ बजे तक जबर सिंह जिंदा था। शव का रविवार को पोस्टमार्टम किया जाएगा।

घटना के संबंध में मृतक के चार बच्चे मंजू, अनिल, सुनील, मनवीर और पत्नी जोत्रा देवी कुछ अन्य जानकारी नहीं दे रहे हैं। महिला की बड़ी बेटी गुड्डी की शादी इसी गांव में हुई है। घटना के बाद से गुड्डी का ससुर नंदू नेगी फरार चल रहा है। पुलिस उसकी तलाश में जुटी है। मृतक हलवाई का काम करता था।