उत्तराखंड में ठंड अपने पूरे शबाब पर दिख रही है। अस्थायी राजधानी देहरादून सहित पूरे राज्य में मैदान से लेकर पहाड़ तक सर्द हवाओं का सिलसिला जारी है। मैदानों में जहां कोहरा जनजीवन को प्रभावित कर रहा है, वही पहाड़ों में पाला पड़ रहा है। शाम होते ही कपंकपाने वाली सर्दी शुरू हो जाती है।

मौसम विभाग ने उत्तराखंड के लिए पूर्वानुमान जारी करते हुए बताया है कि राज्य में अभी बारिश की अगले दो से तीन दिन तक कोई संभावना नहीं बन रही है। सूखी ठंड के चलते शीतलहर की चेतवानी मौसम विभाग ने जारी की है। अगले 48 घंटों में राज्य के कई हिस्सों में शीतलहर जनजीवन को प्रभावित करेगी, कोहरा और पाला भी जनजीवन पर असर डालेगा।

राज्य में ठंड का असर पहाड़ से लेकर मैदान तक दिख रहा है। अस्थायी राजधानी देहरादून की कई सड़कों में शाम होते ही संन्नाटा देखा जा सकता है। अलाव जलाकर आग की तपीश से राहत पाते लोग देखे जा सकते हैं।

कोहरे के बीच यातायात प्रभावित होने के साथ ही लोग घरों में रहने को मजबूर हो जाते हैं। असर यहां तक है कि देहरादून का न्यूनतम तापमान 3.6 तक दर्ज किया जा चुका है।

snow-fall

राज्य में अगले दो से तीन दिन बारिश की संभावना नहीं बन रही है, मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जारी करते हुए कहा है कि 27 दिसम्बर के आसपास हल्के बादल छाए रह सकते हैं, लेकिन ज्यादा बारिश की संभावना अभी नहीं बन रही है।

बताया गया है कि पूरे राज्य का मौसम अगले कुछ दिन शुष्क बना रहेगा, जाहिर है कि कहीं न कहीं सूखी ठंड से लोगों के जनजीवन पर और ज्यादा असप पड़ने वाला है।

भले ही राज्य भर में ठंड अपना असर दिखा रही हो लेकिन राहत की बात ये है कि देहरादून सहित कई जिलों में धूप से लोगों को राहत मिल रही है, सुबह-शाम की ठंड के बीच दिन में धूप का मजा लोग ले रहें है।