धार्मिक नगरी हरिद्वार में अगले साल जनवरी में शुरू हो रहे अर्द्धकुंभ के दौरान 10 स्नान होंगे। पहला स्नान मकर संक्रांति के दिन 14 जनवरी को होगा, जबकि मुख्य स्नान 14 अप्रैल को होगा।

हरिद्वार स्थित श्रीगंगा सभा की विद्वत परिषद ने अर्द्धकुंभ स्नानों की तिथियां घोषित की हैं। श्रीगंगा सभा के महामंत्री रामकुमार मिश्रा ने बताया कि पहला अर्द्धकुंभ स्नान 14 जनवरी को मकर संक्रांति पर, दूसरा स्नान आठ फरवरी को सोमवती अमावस्या पर, तीसरा स्नान 12 फरवरी को बसंत पंचमी के दिन होगा।

अर्द्धकुंभ का चौथा स्नान 22 फरवरी को माघ पूर्णिमा पर, पांचवां स्नान 17 मार्च को महाशिवरात्रि पर, छठा स्नान 7 अप्रैल को चैत्र अमावस्या पर तथा सातवां स्नान चैत्र शुक्ल प्रतिपदा नव संवत्सर के दिन 8 अप्रैल को होगा।

उन्होंने बताया कि आठवां स्नान 14 अप्रैल को होगा जो अर्द्धकुंभ का मुख्य स्नान पर्व भी होगा। नौवां स्नान 15 अप्रैल को रामनवमी पर तथा 10वां स्नान 22 अप्रैल को चैत्र पूर्णिमा पर होगा।

उत्तराखंड सरकार ने जनवरी से शुरू होकर अप्रैल तक चलने वाले अर्द्धकुंभ पर्व के दौरान देशभर से करीब सात-आठ करोड़ श्रद्घालुओं के आने की संभावना व्यक्त की है और इसी के मद्देनजर तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।