हर युवती की आंखों में एक राजकुमार का सपना पलता है। कोर्इ ऐसा, जो उसका हाथ थाम कर उसे चांद-सितारों की दुनियां में ले जाए। भला कौन लड़की है, जो नहीं चाहती कि उसका यह सपना पूरा हो और उसे मन चाहा जीवनसाथी मिल जाए। आप भी अगर ऐसा चाहती हैं, तो वास्तु एवं फेंग्‍शुइ के कुछ उपाय आपकी मदद कर सकते हैं।

  • घर के किसी भी कोने की सकारात्मक ऊर्जा बढ़ाने में फूलों का बहुत महत्व है, लेकिन शयनकक्ष में कभी भी हरे पेड़-पौधे तथा ताजा फूलों का गुलदस्ता न रखें। फेंग्शुर्इ के अनुसार, पुष्प, पौधे तथा लताएं लकड़ी तत्व की प्रतीक हैं, जो शयनकक्ष में यांग ऊर्जा को बढ़ाते हैं। अधिक यांग शकित विवाह सुख में बाधक है।
  • विवाह योग्य लड़कियों के कमरे में पियोनिया के फूलों की पेंटिग लगायी जा सकती है। पियोनिया को फूलों की रानी कहा जाता है। पियोनिया के फूल सौन्दर्य, प्यार व रोमांस के प्रतीक हैं। पियोनिया का फूल सामान्य रूप से स्त्रियों से संबंधित फूल माना जाता है। घर के ड्रॉइंगरूम में पियोनिया के फूलों की पेंटिंग लगाने से शादी योग्य लड़कियों के लिए अच्छे रिश्‍ते आने शुरू हो जाते हैं।Marriage
  • तस्वीर के स्थान पर वास्तविक पियोनिया के फूल भी रखे जा सकते हैं, किन्तु वास्तविक पियोनिया के फूल कम ही मिलते हैं। इन्हें ड्रॉइंगरूम के दक्षिण-पश्चिम में रखना चाहिए। ध्यान रहे विवाह के पश्चात इन पेंटिंग तथा फूलों को वहां से हटा देना चाहिए।
  • अविवाहित युवती अगर पूर्णिमा के दिन चन्द्रमा की पूजा करे तो उत्तम पति (हस्बैंड) प्राप्त होता है।
  • यदि किसी कन्या की शादी में विलम्ब हो रहा हो तो उसे पूर्णिमा के दिन पांच संतरे हाथों में लेकर चन्द्रमा को देखते हुए चलते हुए पानी जैसे- नदी, नहर या समुद्र में प्रवाहित करना चाहिए। इस प्रयोग को केवल एक ही बार करना चाहिए।
  • विवाह योग्य कन्या के शयन कक्ष में ऐसा चित्र, जिसमें चांद या चांद की रोशनी दिखती हो, लगाने से योग्य व कुशल वर की प्राप्ति होती है।

यह लेख मशहूर ज्योतिष, वास्तु और फेंग्शुई विशेषज्ञ नरेश सिंगल से बातचीत के आधार पर लिखा गया है। वास्तु से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या के समाधान के लिए नरेश सिंगल से संपर्क करें…

+91-9810290286
9810290286@vaastunaresh।com, mail@vaastunaresh।com