हम-तुम हों लिफ्ट के अंदर… और बिजली चली जाए… ‘सीएम अखिलेश और डिंपल यादव फंसे लिफ्ट में’

‘घूमने को निकलें जब घर से हम दोनों, उतर रहे हों बिल्डिंग की लिफ्ट से हमदम… कोई भी पास नहीं हो, हम-तुम हो लिफ्ट के अंदर, और बिजली चली जाए… अंधेरा ही अंधेरा हो…’ फिल्म ‘रंग’ का ये गाना तो आपको याद ही होगा। यह फिल्मी गाना शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनकी पत्नी डिंपल यादव के साथ सच हो गया।

अखिलेश यादव और उनकी सांसद पत्नी डिम्पल यादव शुक्रवार को विधानभवन की वीआईपी लिफ्ट में तकनीकी खराबी के कारण करीब आधे घंटे तक फंसे रहे, जिससे परिसर में हड़कम्प मच गया।

सचिवालय प्रशासन के सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री और उनकी पत्नी विधानभवन के राजर्षि टण्डन सभाकक्ष में आयोजित ‘बाल संसद’ में शिरकत करके वीवीआई लिफ्ट संख्या एक से वापस लौट रहे थे, तभी तकनीकी खराबी के कारण लिफ्ट अटक गई।

उन्होंने बताया कि इस घटना से हड़कम्प मच गया। आनन-फानन में लिफ्ट के दरवाजे काटने के लिए गैस कटर मंगवा लिए गए। साथ ही एम्बुलेंस भी बुलवायी गई। करीब 30 मिनट तक परेशान करने के बाद लिफ्ट ठीक हुई तथा मुख्यमंत्री व उनकी पत्नी बाहर निकल पाए।

सूत्रों ने बताया कि जिस लिफ्ट में अखिलेश और डिम्पल फंसे थे वह सिर्फ मुख्यमंत्री और अतिविशिष्ट व्यक्तियों के लिए ही जाने के लिए आरक्षित है। ऐसे में यह सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला है। उन्होंने बताया कि पहली नजर में तकनीकी गड़बड़ी के कारण लिफ्ट फंस गई। पूरी घटना की जांच की जा रही है और दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इस बीच, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भी ‘ट्वीट’ करके घटना की जानकारी दी और कहा कि ईश्वर की कृपा और शुभचिन्तकों की दुआओं की वजह से वह सुरक्षित हैं। उन्होंने मामले के दोषी अधिकारियों तथा कर्मचारियों पर कार्रवाई का इरादा जाहिर करते हुए कहा कि लिफ्ट के रख-रखाव के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।