मुख्यमंत्री के निर्देश के बावजूद भी एक पूर्व कर्मचारी को पेंशन का लाभ नहीं मिल पा रहा है। सीएमओ ने उन्हें सेवा पुस्तिका खो जाने का हवाला देते हुए पेंशन देने से इनकार कर दिया है।

अब स्वास्थ्य महानिदेशक ने सीएमओ को नोटिस भेजकर तुरंत पेंशन जारी करने का आदेश दिया है। साथ ही सेवा पुस्तिका खोने वाले कर्मचारी को चिह्नित कर कार्रवाई के भी निर्देश दिए हैं। 10 जनवरी तक पेंशन जारी नहीं होने पर सीएमओ को प्रतिकूल प्रविष्टि की चेतावनी भी दी गई है।

क्या था मामला
उधमसिंह नगर जिले के रुद्रपुर में एएनएम पद पर कार्यरत कमला नेगी साल 2008 में रिटायर हुईं थीं। रिटायरमेंट के बाद उन्हें पेंशन नहीं दी गई। उन्होंने इस संबंध में कई बार विभागीय अधिकारियों से शिकायत की, लेकिन हर बार उन्हें टाल दिया गया। निराश होकर उन्होंने कुछ समय पहले समाधान पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने समाधान पोर्टल की शिकायत के दौरान यह मामला देखने के बाद कमला नेगी से फोन पर बात की। फिलहाल अल्मोड़ा में रह रही कमला ने मुख्यमंत्री के सामने पूरा मामला रखा। इसके बाद मुख्यमंत्री ने सीएमओ ऊधमसिंह नगर को समस्याओं का निस्तारण कर पेंशन जारी करने के निर्देश दिए।

सीएमओ ऊधमसिंह नगर ने पेंशन जारी करने की बजाय महानिदेशालय को पत्र लिखकर बताया कि कमला नेगी की सेवा पुस्तिका खो गई है, जिस वजह से उनकी पेंशन की समस्या का निस्तारण नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने स्वास्थ्य महानिदेशालय से आवश्यक रिकॉर्ड मांगे। शुक्रवार को मामला स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. आरपी भट्ट के पास पहुंचा तो उन्होंने नाराजगी जताते हुए सीएमओ को नोटिस जारी किया।