उत्तराखंड के कई जिलों में शनिवार तड़के भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप सुबह 3.46 बजे आया और इसका केंद्र पड़ोसी हिमालयी देश नेपाल में था। भूकंप के समय नींद में होने के कारण अधिकांश लोगों को झटके महसूस नहीं हुए, लेकिन जिन्हें भी झटके महसूस हुए वे लोग कड़ाके की ठंड के बावजूद घरों से बाहर निकल आए।

खबरों के मुताबिक रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.4 थी। आपदा प्रबंधन केन्द्र से मिली जानकारी के अनुसार भूकंप का केन्द्र नेपाल सीमा पर जमीन से 10 किलोमीटर नीचे था। पिथौरागढ़ जिले के नेपाल से सटे झूलाघाट, जौलजीवी, पाग्लां आदि स्थान पर तेज झटके महसूस किए गए।

पिथौरागढ़, उत्तरकाशी, चमोली, चंपावत, रुद्रप्रयाग, अल्मोड़ा, नैनीताल सहित कई जिलों में भूकंप के झटके महसूस किए गए। फिलहाल इस भूकंप से किसी तरह के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं है।

आपदा प्रबंधन अधिकारी डॉक्‍टर आरएल राणा ने बताया कि भूकम्प से किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है। साथ ही उन्‍होंने कहा कि भूकंप की तीव्रता काफी तेज थी। केन्द्र गहरा होने के कारण किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ। गौरतलब है कि जिन इलाकों में भूकंप आया है, वे सभी इलाके जोन फाइव में दर्ज हैं।