देवभूमि उत्तराखंड का एक युवक अपने 28 साथियों के साथ मलेशिया में समुद्री डाकुओं की चंगुल में फंस गया है। युवक का नाम सूरज है। वह पौड़ी जिले में चरगाड़ का रहने वाला है। 5 महीने पहले वह विदेशी मर्चेंट नेवी कंपनी में नौकरी करने के लिए मलेशिया गया था।

सूरज को एक महीने से समुद्री डाकुओं ने बंधक बनाया हुआ है। इस खबर को सुनने के बाद से परिवार में कोहराम मच गया है। सूरज अपने घर का अकेला लड़का है।

परिजनों ने बताया है कि 14 दिसम्बर की रात को फोन से उनको सूचना मिली है कि सूरज को समुद्री डाकुओं ने पकड़ लिया है। उसको छोड़ने के ऐवज में डाकू करोड़ो रुपये की मांग कर रहे हैं।

pirates-story

आर्थिक रूप से कमजोर सूरज के परिवार ने उसकी सकुशल वतन वापसी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गुहार लगाई है। सूरज के पिता ने विदेश मंत्रालय से लेकर पीएमओ कार्यालय तक चिट्ठी लिखी है।

लेकिन अभी तक कहीं से कोई आश्वासन नहीं आया है। परिवार मीडिया के जरिए भी अपनी आवाज सरकारों तक पहुंचाने की कोशिश कर रहा है।

2 महीने की बेटी को कंधे पर लेकर अपने पति को छुड़ाने के लिए सूरज की पत्नी दर-दर की ठोकरें खा रही है। इस पूरे मामले में राज्य की हरीश रावत सरकार ने अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है।