उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून में एक सैक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। शहर के क्लेमेंटटाउन पुलिस ने एयरफोर्स के एक अधिकारी की कोठी पर छापा मारकर इस सेक्स रैकेट का खुलासा किया है। छापेमारी के दौरान पुलिस ने 6 महिलाओं और दो दलालों को भी पकड़ा है।

इस रैकेट का सरगना अपने साथी के साथ भागने में सफल हो गया है। पकड़ी गई महिलाएं और एजेंट दिल्ली, मुंबई, अंबाला व कोलकाता से जुड़ाव रखते हैं। पुलिस उपाधीक्षक मनोज कत्याल के मुताबिक पुलिस को खबर मिली थी कि प्रगति विहार इलाके में एक कोठी में जिस्मफरोशी का धंधा चल रहा है।

एसओ नरेश राठौड की अगुवाई में टीम गठित कर मंगलवार को कार्रवाई की गई तो छापेमारी के दौरान छह महिलाएं व दो एजेंट रामा कृष्ण निवासी कोलकाता और गौरव शर्मा निवासी अंबाला को पकड़ा गया। महिलाओं में दो दिल्ली, दो कोलकाता और एक मुंबई की रहने वाली हैं। पूछताछ में पता चला कि सरगना एक साथी के साथ मौके से भागने में कामयाब हो गया। जिनकी गिरफ्तारी की कोशिशें की जा रही हैं।

sex-racket-dehradun1

सीओ सिटी कत्याल ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि कोठी एयरफोर्स में विंग कमांडर की है, जो फिलहाल आसाम में तैनात है। अफसर मूल रूप से उत्तर प्रदेश में बरेली का रहने वाला बताया गया है। यह कोठी कुछ समय पहले गिरोह के सरगना द्वारा किराए पर ली गई थी। इनके पास से दो कारें भी बरामद हुई हैं, जिनका प्रयोग ग्राहकों को लाने और ले जाने में किया जाता था। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर चालान किया जा रहा है।

एसओ नरेश राठौड़ ने बताया कि एयरफोर्स अफसर की कोठी सील कर दी गई है। किराएदार का सत्यापन नहीं कराने पर कोठी मालिक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है। जिस्मफरोशी का धंधा मोबाइल और इंटरनेट के जरिए चल रहा था। कोठी में मौजूद एजेंट फोन पर ग्राहक से सौदेबाजी करते थे।