कैबिनेट मिनिस्टर मंत्री प्रसाद नैथानी पर कांग्रेस के अंदर से जोरदार हमला, बताया निकम्मा

उत्तराखंड सरकार में पूर्व कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता शूरवीर सिंह सजवाण ने राज्य सरकार के एक मंत्री के खिलाफ जहर उगला है। उन्होंने कहा कि मंत्री प्रसाद नैथानी समाज, राज्य और देवप्रयाग विधानसभा में घृणा के पात्र हैं और उनसे निकम्मा कोई नहीं हो सकता है।

नैथानी पर आरोप लगाते हुए सजवाण ने कहा कि नैथानी अपने विभाग से जुड़े अधिकारियों का जमकर आर्थिक शोषण कर रहे हैं। सजवाण ने तो यहां तक आरोप लगाया कि नैथानी के घर में हुए चार बड़े आयोजनों का खर्चा भी जुड़े विभाग के अधिकारियों से ही लिया गया है। उन्होंने कहा कि नैथानी पैसे के लिए अपने खास लोगों को भी भूल गए हैं।

राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री, मंत्री प्रसाद नैथानी के कट्टर राजनीतिक प्रतिद्वंदी माने जाने वाले कांग्रेस नेता शूरवीर सिंह सजवाण ने नैथानी पर भड़ास निकालते हुए उनके पुराने दिनों की याद दिलाई। उन्होंने कहा कि कभी नैथानी चादर बिछाकर नोट और वोट मांगा करते थे। लेकिन, आज वह नोटों की बौछार कर रहे हैं।

सजवाण ने कहा कि नैथानी को आगे बढ़ाने में उनके जिन नातेदारों, रिश्तेदारों और मित्रों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई आज नैथानी पैसे के आगे उन्हें ही भूल गए हैं। उन्होंने कहा कि नैथानी के लिए आज पैसा ही महत्व रखता है। नैथानी पर निशाना साधते हुए उन्होंने इशारों ही इशारों में कहा कि उनकी निष्ठा आज बीजेपी नेता सतपाल महाराज और बीजेपी के साथ है कांग्रेस के साथ नहीं।

गौरतलब है कि पिछले विधानसभा चुनावों में देवप्रयाग विधानसभा से कांग्रेस का टिकट न मिलने पर कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेश महामंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी ने बगावत कर निर्दलीय चुनाव लड़ा था।

चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर उनका मुकाबला शूरवीर सिंह सजवाण से भी हुआ, हालांकि सजवाण और अन्य दलीय प्रतिद्वदिंयों को पटखनी देते हुए नैथानी न केवल विधायक बने बल्कि अच्छी किस्मत और कांग्रेस की राजनीतिक मजबूरियों के चलते राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री भी बन गए।

हार से तिलमिलाए शूरवीर सिंह सजवाण की आंखों में नैथानी तब से ही खटकते रहे हैं। बाद में नैथानी के राज्य सरकार में मंत्री बनने के बाद सजवाण बार-बार मुख्यमंत्री हरीश रावत पर भी नैथानी को मंत्रिमंडल से बाहर करने का दबाव भी बनाते रहे हैं, लेकिन आज तक उन्हें सफलता हासिल नहीं हुई।