कुत्ते को इंसान का सबसे अच्छा दोस्त और वफादार माना जाता है। यही बात उत्तराखंड के चमोली जिले में दो पालतू कुत्तों ने साबित भी कर दी। चमोली जिले में एक महिला के पालतू कुत्ते उसे मौत के मुंह से बचा लाए। अपनी मालकिन को बचाने के लिए पालतू कुत्ते जंगली भालू से भिड़ गए।

ग्राम पंचायत भेंटी में सोमवार को खेतों में घास काट रही एक महिला पर जंगली भालू ने जानलेवा हमला कर उसे घायल कर दिया। चीख-पुकार सुनकर महिला के दो पालतू कुत्ते मौके पर पहुंच गए और भालू को भागने पर मजबूर कर दिया।

घटना की जानकारी मिलने के बाद ग्रामीण उक्त महिला को लहूलूहान हालत में गांव तक लाए, यहां से 108 वाहन से उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। महिला के सिर में करीब बीस टांके लगाने पड़े हैं।

सोमवार सुबह साढ़े छह बजे दलवीर सिंह नेगी की 45 वर्षीय पत्नी चैता देवी रोज की तरह गांव से करीब सौ मीटर दूर खेतों में घास लेने गई थी कि अचानक घात लगाकर बैठे भालू ने उस पर हमला कर दिया।

चैता की चीख-पुकार सुनकर उनके दो पालतू कुत्ते मौके पर पहुंच गए और उन्होंने भालू के साथ कुछ देर तक संघर्ष किया, जिसके बाद भालू थक-हारकर जंगल में भाग गया। महिला के सिर और कंधे पर भालू के नाखूनों के गहरे निशान पड़ गए।

अभी चैता बोल भी नहीं पा रही है। डिप्टी सीएमओ डॉ. बीएस पाल ने बताया कि महिला का इलाज चल रहा है। फिलहाल वह खतरे से बाहर हैं।