इस्लामाबाद।… पश्चिमोत्तर पाकिस्तान के सैन्य छावनी वाले सीमावर्ती कस्बे खुर्रम में रविवार को हुए बम विस्फोट में कम से कम 23 लोगों की मौत हो गई और 55 लोग घायल हो गए।

अखबार ‘डॉन’ ने इलाके के राजनीतिक प्रशासक अमजद अली खान के हवाले से बताया है कि विस्फोट में 55 लोग घायल हुए हैं।

एक अधिकारी ने बताया कि खुर्रम घाटी के पाराचिनार छावनी के पास सदर बाजार में आतंकवादियों ने दोपहर 12.30 बजे रिमोट कंट्रोल से विस्फोट कर दिया। उस समय बाजार में काफी भीड़ थी, जहां लोग सर्दी के कपड़े खरीद रहे थे।

सुरक्षा सूत्रों के अनुसार, कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने दो संदिग्धों को हिरासत में लिया है और दोनों को पूछताछ के लिए अज्ञान स्थान पर ले जाया गया है।

विस्फोट में दो वाहन और कई दुकानें नष्ट हो गईं। पुलिस ने इलाके की घेरेबंदी कर दी है। बम निरोधक दस्ते के एक अधिकारी ने कहा, ‘यह एक टाइम बम था, जिसमें लगभग 30-35 किलोग्राम विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था।’

अधिकारी ने बताया कि घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां से गंभीर रूप से जख्मी 23 व्यक्तियों को सेना के हेलिकॉप्टरों के जरिए पेशावर लेडी रीडिंग अस्पताल ले जाया गया है।

अभी तक किसी भी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। पाराचिनार में शिया अल्पसंख्यकों की संख्या अधिक है। हमले के लिए संप्रदायवादियों को जिम्मेदार माना जा रहा है।

खुर्रम सर्वाधिक संवेदनशील कबायली इलाकों में से एक है, क्योंकि अफगानिस्तान के तीन प्रांत इसकी सीमाओं से सटे हैं और एक समय में यह सीमा पार आतंकियों की आवाजाही का एक प्रमुख मार्ग था।

एजेंसी उत्तरी वजीरिस्तान के निकट है, जहां तहरीक-ए-तालिबान और अन्य उग्रवादी समूहों के खिलाफ ऑपरेशन जर्ब-ए-अज्ब चलाया जा रहा है। पाराचिनार अफगान सीमा के पास एजेंसी का प्रशासनिक मुख्यालय है।